Budget 2021: वित्त मंत्री के बजट से आम आदमी को यहां लगेगा झटका तो इधर मिलेगा लाभ

119
बजट1

देश की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण(Finance Minister Nirmala Sitharaman) ने कल वित्त वर्ष बजट 2021-2022 पीएम नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में सबके सामने पेश किया। बजट में किसी की तारीफों के पुल बांधे गए तो किसी की कमी को उजागर किया गया। आइए जानते है कि बजट 2021 से किस चीज के रेट में कमी आई है और किस चीज में रेट में बढ़ोत्तरी हुई है।

इसे भी पढ़ेः- सिल्वर सिमर साड़ी में दिखा Mouni Roy का अलग अंदाज, फोटो शेयर कर कही ये बात

इनको मिली आईटीआर छूट

वे सीनियर सिटिजन जिनकी उम्र 75 साल या उससे अधिक है, उनको इंकम टैक्स रिटर्न फाइल नहीं करना होगा। इन लोगों के टैक्स कटने का माध्यम टीडीएस होगा। TDS को तौर पर ही इनका टैक्स काटा जाएगा। इनके रिटर्न फॉर्म में कैपिटल गेन्स, डिविडेंड और ब्याज से होने वाली आय पहले से भरी होगी।

इतने साल पुरानी गाड़ी हुई स्क्रैप

15 साल पुरानी कमर्शल और 20 साल पुरानी प्राइवेट गाड़ियों को स्क्रैप की जा सकेंगी, लेकिन अगर आप अपनी पुरानी गाड़ी को भंगार और कबाड़ में नहीं देना चाहते है, तो उसके लिए भा सरकार ने रास्ता निकाला हुआ है। आप अपनी गाड़ी का फिटनेस सर्टिफिकेट लेकर गाड़ी चला सकते है, लेकिन इनकी शर्ते क्या होंगी, इस बात की जानकारी सड़क परिवहन मंत्रालय बताएगा।

137 प्रतिशत बढ़ा हेल्थ बजट

कोरोना जैसी कड़ी चुनौती से बचने के लिए सरकार ने इस बार हेल्थ बजट में 137 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी की है। केवल कोविड़ वैक्सीन के लिए 35 हजार करोड़ रुपये निकाले गए हैं। वैक्सीन के मामले में सीतारमण ने कहा कि अगर और फंड की आवश्यकता होती है, तो और फंड भी दिया जाएगा।

आम जनता के लिए नहीं बदला कर स्लैब

बजट से कई आम नौकरी करने वालों की उम्मीदें टूट चुकी हैं। इसका मतलब ये है कि गत वर्ष के जैसे ही आम आदमी को आईटीआर फाइल करने के दो विकल्प मिलेगें। पहले के जैसे ही निवेश पर आपको छूट मिलेगी। नए सिस्टम में NPS में 50 हजार तक की छूट है।

इतने लाख फंड पर लगेगा टैक्स

अगर प्रोविडेंट फंड में किसी वित्त वर्ष में कुल कॉन्ट्रिब्यूशन 2.5 लाख रुपये से ज्यादा है तो, उस राशि पर मिलने वाले ब्याज पर टैक्स लगेगा। यह टैक्स उस शख्स के स्लैब के हिसाब से लगेगा।

इसे भी पढ़ेः- छह फरवरी को चक्का जाम करेंगे किसान, दिल्ली पुलिस इस तरह रोकेगी रास्ता