अस्पताल में आग लगने से 10 नवजात की जलकर मौत, पीएम मोदी और शाह ने जताया शोक

123

मुंबई। महाराष्ट्र के भंडारा के सरकारी अस्पताल में बच्चों के वार्ड में गत रात दो बजे के करीब आग लग गई, जिसमें 10 नवजातों की जिंदा जलकर मौत हो गई है। जिन बच्चों ने अभी दुनिया नहीं देखी थी, जिन्हें यह तक नहीं पता था कि उनके मां-बाप कौन है, वह बड़ी लापरवाही के चलते असमय काल के गाल में समा गए। मरने वालों में 1 से 3 महीने के बच्चे शामिल हैं। जानकारी के अनुसार आईसीयू वार्ड में कुल 17 बच्चे थे, जिनमें से हादसे के दौरान 10 को नहीं बचाया जा सका। बताया जा रहा है ड्यूटी पर तैनात नर्स ने जब वार्ड का दरवाजा खोला तो कमरे में चारों तरफ धुआं देखा। उन्होंने तुरंत अस्पताल के अधिकारियों को इसकी जानकारी दी। सूचना पर पहुंची फायर ब्रिगेड ने लोगों की मदद से अस्पताल में रेस्क्यू ऑपरेशन चला कर लोगों को बचाने में लग गए। खबर लिखे जाने तक आग लगने का कारण अस्पष्ट नहीं हो पाया था, जबकि आग लगने की वजह शॉर्ट सर्किट माना जा रहा है।

इसे भी पढ़ें: भारत-पाकिस्तान सीमा से BSF ने छह पाकिस्तानी जवानों को किया गिरफ्तार, पूछताछ जारी

वहीं इस हादसे को लेकर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे के साथ-साथ जिलाधिकारी और पुलिस कप्तान से बात कर मामले की जांच के आदेश दिए हैं। जबकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने घटना पर दुख जताते हुए कहा है कि इस हादसे में हमने कई युवा जीवनों को खो दिया है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा, महाराष्ट्र के भंडारा में ह्दय विदारक घटना हुई है, इस घटना में हमने कई बहुमूल्य नौजवान जिंदगियों को खो दिया है। वहीं इस हादसे में जो घायल हुए हैं वह जल्द से जल्द स्वस्थ होंगे।

इसी क्रम में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी घटना पर दुख जताते हुए पीड़ित परिवारों को ढांढस बंधाया है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा है कि महाराष्ट्र के भंडारा जिला अस्पताल में आग लगने की घटना दुर्भाग्यपूर्ण है। मैं अपने इस दर्द को शब्दों में नहीं लिख सकता। मेरी संवेदनाएं शोक संतप्त परिवारों के साथ हैं। भगवान उन्हें इस अपूरणीय क्षति को सहन करने की शक्ति प्रदान करें।

भंडरा में हुए हादसे पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भी ट्वीट कर शोक जताया है। अपने ट्वीट में उन्होंने लिखा है कि भंडारा जिला अस्पताल में आग की घटना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है, इस दुर्घटना में जान गंवाने वाले बच्चों के परिवार वालों के साथ मेरी संवेदनाएं है। मैं महाराष्ट्र सरकार से अपील करता हूं कि इस घटना में मारे गए और घायलों के परिवार वालों को यथा संभव सहायता राशि उपलब्ध करवाएं। महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने घटना में मृतकों के परिजनों को 5-5 लाख रुपए अनुग्रह राशि के तौर पर देने का एलान किया है।

इसे भी पढ़ें: किसान आंदोलन- फिर मुकर्रर हुई अगली तारीख..बेनतीजा रही आज की बैठक..अब सुप्रीम कोर्ट करेगा हस्तक्षेप