अमेरिका हिंसा के दौरान तिरंगा लहराने वाले शख्स ने थरूर के साथ किया था लंच

73

नई दिल्ली। अमेरिका में राष्ट्रपति को लेकर जारी गतिरोध के बीच डोनाल्ड टंप के समर्थकों द्वारा वाशिंगटन कैपिटल हिल में घुसकर हंगामा और हिंसा करने के दौरान भारत का तिरंगा झंडा भी लहराता दिखा था। इस पर भाजपा नेता वरुण गांधी ने तथ्यों के साथ आरोप लगाया है कि ऐसा करने वाला शख्स कांग्रेस नेता शशि थरूर का परिचित है, वह उनके साथ लंच भी कर चुका है। वरुण गांधी ने अपने ट्वीट स्क्रीन शॉट शेयर करते हुए लिखा है, प्रिय शशि थरूर हम सब जानते है कि यह चाटुकार आपका प्रिय दोस्त था। उम्मीद है कि अब आप और आपके दोस्त इस मसले पर चुप नहीं बैठेंगे। बता दें कि ट्रंप समर्थको ने कैपिटल हिल में तोड़फोड़ करते हुए सीनेटरों को बाहर कर पूरी बिल्डिंग पर कब्जा कर लिया था। इस दौरान प्रदर्शनकारियों में एक शख्स के हाथ में तिरंगा झंडा देखा गया था। भाजपा नेता वरुण गांधी ने इसी वीडियो को शेयर करते हुए भारत का झंडा देखे जाने पर सवाल उठाए हैं।

इसे भी पढ़ें: राजद्रोह से जुड़े मामले में बयान दर्ज कराने रंगोली के साथ पुलिस स्टेशन पहुंचीं कंगना

वरुण गांधी ने ट्वीट करते हुए सवाल किया है कि वहां भारतीय झंडा क्यों है? साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि यह एक ऐसी लड़ाई है, जिसमें हमें हिस्सा लेने की कोइ्र जरूरत नहीं है। गौरतलब है कि अमेरिका में डोनाल्ड ट्रंप के हजारों समर्थक जबरन अमेरिकी कैपिटल में घुस गए थे। इस दौरान उनकी पुलिस के साथ हिंसक झड़प हो गई थी। इस झड़प में चार लोगों की मौत हो गई और कई लोग गंभीर रूप से घायल भी हुए। इतना ही नहीं नए राष्ट्रपति के तौर पर जो बाइडन के नाम पर मोहर लगने के संवैधानिक प्रक्रिया भी बाधित हो गई थी। वाशिंगटन कैपिटल हिल में ट्रंप के समर्थकों द्वारा किए गए हिंसक प्रदर्शन का दुनियाभर के नेताओं ने निंदा की और हंगामे के चलते देश में उपजे हालात पर खेद भी जताया।

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के समर्थकों और पुलिस के बीच बुधवार को हुई हिंसक झड़प पर चिंता जाहिर करते हुए लिखा है कि लोकतांत्रिक प्रक्रिया को गैरकानूनी तरीकों से बदलने की अनुमति नहीं दी जा सकती। प्रधानमंत्री ने अपने ट्वीट में अमेरिका में सत्ता के सुव्यवस्थित और शांतिपूर्ण हस्तांतरण की प्रक्रिया को जारी रखने का भी आह्वान किया। पीएम मोदी का यह बयान डोनाल्ड ट्रंप के हजारों समर्थकों के वाशिंगटन कैपिटल हिल में घुसने और पुलिस के साथ हिंसक झड़प करने के बाद आया था।

इसे भी पढ़ें: भारतीय जवानों का तनाव बना जान का दुश्मन, सीनियर अफसर बने वजह