Saturday, December 4, 2021

RSS नेता दी तालिबान से सतर्क रहने की सलाह, अमरिंदर सिंह ने की गुरुद्वारे में फंसे लोगों को बचाने की मांग

- Advertisement -
- Advertisement -

नई दिल्ली। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ नेता राम माधव (Ram Madhav) ने अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे के बाद अब ज्यादा सतर्क रहने के लिए कहा है। आरएसएस नेता ने कहा है कि आने वाले दिनों में भारत को ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत है। उन्होंने कहा है कि ‘तालिबान को आईएसआई ने ट्रैनिग दी है और अजब काबुल में तालिबान के कब्जे के बाद वो अपना विस्तार करेगा। माधव ने कहा है कि तीस हजार से ज्यादा आईएसआई द्वारा पाकिस्तान में ट्रेनिंग ले चुके भाड़े के आतंकी तालिबान के पास हैं। अफगानिस्तान की सत्ता में काबिज हो चुका तालिबान अब पाकिस्तान की मदद से अपने लड़कों को कहीं और तैनात करेगा इसलिए ऐसे में अब भारत को गंभीर सुरक्षा चुनौतियों के लिए तैयार रहना होगा। भारत के लिए तालिबान खतरा है।’

इसे भी पढ़ें : अमेरिका काबुल भेजेगा 6 हजार सैनिक, इस मिशन के तहत होगी तैनाती

पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) और बीजेपी सांसद सुब्रमण्यम स्वामी सहित अन्य कई पार्टी नेता भी तालिबान के अफगानिस्तान पर कब्जे के बाद भारत के लिए संकट की आशंका जाहिर कर चुके हैं। सुब्रमण्यम स्वामी (Subramanian Swamy) ने रविवार को दावा किया था कि ‘तालिबान के अफगानिस्तान में सत्ता में आने के बाद भारत के लिए एक नया खतरा अंतरराष्ट्रीय मोर्चे पर पैदा हो गया है। उन्होंने कहा था कि अब सरकार के गंभीर होने का समय है और दावा किया था कि पाकिस्तान जल्द ही ‘तालिबानीकृत अफगानिस्तान’ का हिस्सा बन जाएगा।

रविवार को सीएम अमरिंदर सिंह ने कहा था कि ‘भारत को अब देश की सीमाओं ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत है। तालिबान द्वारा अफगानिस्तान पर कब्ज़ा होना भारत के लिए भारत के लिए अच्छे संकेत नहीं है। सीएम अपने ‘अफगानिस्तान का तालिबान में गिरना हमारे देश के लिए अच्छा नहीं है। यह भारत के खिलाफ चीन-पाक गठजोड़ को मजबूत करेगा (चीन पहले ही उइगर पर मिलिशिया की मदद मांग चुका है)। संकेत बिल्कुल भी अच्छे नहीं हैं, हमें अपनी सभी सीमाओं पर अब अतिरिक्त सतर्क रहने की जरूरत है।

अब से कुछ देर पहले सीएम ट्वीट करके विनती करना विदेश मंत्री जयशंकर से मदद मांगी हैं। उन्होंने ट्वीट कर मांग की है कि ‘भारत सरकार और विदेश मंत्रालय तालिबान के अधिग्रहण के बाद अफगानिस्तान के एक गुरुद्वारे में फंसे लगभग 200 सिखों सहित सभी भारतीयों को तत्काल निकालने की व्यवस्था करने के लिए। मेरी सरकार उनकी सुरक्षित निकासी सुनिश्चित करने के लिए किसी भी तरह की मदद देने को तैयार है।

इसे भी पढ़ें : 16 करोड़ के इंजेक्शन के लिए अयांश के पिता ने लगाई मुख्यमंत्री से गुहार, पहुंचे जनता दरबार

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -