Friday, October 22, 2021

चलती ट्रेन में महिला के साथ हुआ सामूहिक दुष्कर्म, डिब्बे में बैठे शख्स ने बताई खौफनाक दास्तां

- Advertisement -
- Advertisement -

लखनऊ से मुंबई जाने वाली पुष्पक एक्सप्रेस (Pushpak Express) में पिछले शुक्रवार को 20 साल की युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म (Gangrape) होने की घटना सामने आई थी। 8 बदमाशों ने इगतपुरी-कसारा स्टेशन के बीच यात्रियों को लूटा था। उसी दौरान पति के साथ यात्रा कर रही 20 साल की महिला के साथ बदमाशों ने सामूहिक दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया। इस मामले में कुछ आरोपियों को अरेस्ट कर लिया गया है।

घिनौनी वारदात को दिया अंजाम

हुई घटना का एक चश्मदीद भी सामने आया है, जिसने उस रात की पूरी कहानी पुलिस के सामने बयां किया है। लखनऊ के रहने वाले गुलफाम अली (25) मुंबई जा रहे थे और उसी डिब्बे में सफर कर रहे थे, जिसमें महिला के साथ घिनौनी वारदात को अंजाम दिया गया था। उन्होंने इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि उन आठों बदमाशों ने ट्रेन में चढ़ते ही क्रूरता वाला बर्ताव किया।

गुलफाम अली ने बताया, कि उनको देख कर ही ऐसा लग रहा था कि जैसे उन्होंने शराब पी हो या कोई और नशा कर रखा हो।ट्रेन में घुसते ही वो आक्रामक हो गए थे। बैठे लोगों के साथ झगड़ा और मारपीट शुरू कर दी। स्टेशन निकलने के बाद उनका खौफनाक रूप सामने आया। उनके पास डस्टर जैसे हथियार भी थे, जिसे वो लोगों के सिर पर वार कर रहे थे और उनसे पैसे मांग रहे थे।

अली ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया, ‘उनके पास चाकू के साथ-साथ डस्टर भी थे, जिससे वो लोगों को चेतावनी दे रहे थे और पैसे मांग रहे थे। उन्होंने कुछ यात्रियों के साथ मारपीट भी की। जब मैंने बीच-बचाव करने की कोशिश की तो उनमें से एक ने मेरे सिर पर किसी नुकीली चीज से वार किया था, जिसकी वजह से मैं लहू लुहान हो गया। मैं डर गया और चुप रहा।’

आरोपियों को पकड़ने में काफी मदद की। अली ने बताया कि ट्रेन जब कसारा घाट सेक्शन पर पहुंची, जिसमें कई सुरंगें हैं तो आठों ने महिला के साथ गैंगरेप करना शुरू कर दिया।

सुरंग का अंधेरा होते ही उन्होंने लूटपाट करना शुरू कर दिया। तभी उनकी नजर उस महिला पर पड़ी जो पति के साथ सफर कर रही थी। उन्होंने उसके साथ छेड़छाड़ शुरू कर दी। इस दौरान उसके पति से भी मारपीट की। जब मैंने उन्हें रोकने का प्रयास किया तो उन्होंने हम दोनों के साथ मारपीट की। यहां कि एक व्यक्ति को ट्रेन से नीचे फेंकने की भी कोशिश की लेकिन ट्रेन की रफ्तार कम थी तो वो बच गया।

अली ने आगे बताया, ‘स्टेशन आते ही हम सब चिल्लाने लगे. हालांकि, तब तक 6 आरोपी कूद गए थे। उसी एक आरोपी ने जब भागने की कोशिश की तो मैंने हिम्मत जुटाई और उसे पकड़ लिया। हंगामे के बाद पुलिस भी डिब्बे में आ गई और उन्होंने भी एक आरोपी को पकड़ लिया। हमने भी उस व्यक्ति को पुलिसे के हवाले कर दिया।’

हालांकि, मुझे इस बात का बुरा लगता है कि ट्रेन में कई लोगों के होने के बावजूद हम उस महिला को दुर्व्यवहार से नहीं बचा सके।’

रेलवे पुलिस ने इस मामले में आईपीसी की धारा 395, 397, 376(D), 354, 354(B) के तहत और भारतीय रेलवे एक्ट 37 & 153 के तहत मामला दर्ज किया है।

इसे भी पढ़ें-लड़कियों का दिल जीतने में माहिर होते हैं इन राशि के लड़के, स्वभाव से होते हैं खुशमिजाज

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -