अर्णब को ले डूबी उनकी बेबाकी, फिर फंस गए वरिष्ठ पत्रकार, पाकिस्तान के लिए कह दी थी ऐसी बात

284

अपनी बेबाकी के लिए समस्त देश में सर्वविख्यात वरिष्ठ पत्रकार अर्णब गोस्वामी अपनी एक समस्या से निजात पाते नहीं है कि उससे पहले उनके जीवन में दूसरी समस्या दस्तक दे चुकी होती है। अभी कुछ दिनों पहले ही सलाखों से रिहा हुए पत्रकार अर्णब गोस्वामी के चेलन रिपल्बिक के ऊपर 20 लाख रूपए का जुर्माना लगाया गया है। यह जुर्माना यूके ब्रॉडकास्टिंग रेग्युलेटर ने लगाया है। जुर्माना अदा न करने पर चैनल को भारी कीमत भी चुकानी पड़ सकती है तो चलिए अब आपको बताते हैं कि आखिर अर्णब पर इतना भारी भरकम जुर्माना क्यों लगाया गया? ये भी पढ़े :अर्णब गोस्वामी के खिलाफ हर सुनवाई पर दस लाख खर्च करेगी उद्धव सरकार

क्या है माजरा 
बॉ़कॉस्टिंग रेग्युलेटर के कदम को समझने के लिए आपको कैंलडर की तारीखों को पीछे करते हुए 3 सितंबर साल 2019 में जाना होगा, जहां रिपब्लिक भारत के पूछता है भारत कार्यक्रम में अर्णब गोस्वामी चंद्रयान-2 को लेकर बहस कर रहे थे। बहस के दौरान कई पैनेलिस्ट मौजूद थे।  इस दौरान बहस चंद्रयान से होते हुए पाकिस्तान की परिधि पर आ टिकी। जिसमें बहस के दौरान पत्रकार अर्णब गोस्वामी कुछ ऐसा बोल गए जिस पर एतराज जताते हुए अब ब्रॉडकॉस्टिंग रेग्युलेटर ने 20 लाख रूपए का जुर्माना ठोक दिया हैं। बहस के दौरान पाकिस्तान पर कथित आतंकवादी गतिविधियों को लेकर बातें कही गई।

इस मुद्दे पर हुई थी बहस
चैनल को जारी किए गए रिपोर्ट में कहा गया है कि बहस के दौरान अर्णब गोस्वामी समेत कुछ गेस्ट ने कहा कि सभी पाकिस्तानी आतंकवादी है।  इसं दौरान चैनल के कंसल्टिंग एडिटर  गौरव आर्या ने कहा कि पाकिस्तान में वैज्ञानिक, डॉक्टर और राजनेता सभी आतंकवादी हैं।  इतना ही नहीं , वहां के खिलाड़ी तक आतंकवादी है। पूरा देश ही आतंकवादी है। इतना ही नहीं, कार्यक्रम में शामिल हुए एक मेहमान ने तो सभी पाकिस्तानियों को चोर तक बता दिया था। जिसको लेकर अब अर्णब गोस्वामी के चैनल पर 20 लाख रूपए का जुर्माना लगाया गया है। जुर्माना भरने का आदेश देते हुए कहा कि उक्त चैनल ने सभी पाकिस्तानियों के खिलाफ नफरत भरे शब्दों का प्रयोग किया है जिसके मद्देनजर इस तरह का कदम उठाया गया।  ये भी पढ़े : परेशान करने के लिए आपराधिक कानून का उपयोग नहीं करना चाहिए: कोर्ट