हरियाणा में बढ़ रहीं BJP-JJP की मुश्किलें, खापों का ऐलान- हटाएंगे सत्ताधारी पार्टियों के झंडे-नेताओं को गांवों में नहीं घुसने देंगे

44

जिंद में खटकड़ टोल प्लाजा पर 17 खापों की ओर से बुलाई गई महापंचायत में शनिवार को बड़ी संख्या में किसान पहुंचे। तीन कृषि कानूनों का विरोध कर रहे इन खापों ने ऐलान किया कि किसान अपने छतों से बीजेपी और जेजेपी के झंडों को उतारकर राष्ट्रीय ध्वज और भारतीय किसान यूनियन का झंडा लगाएंगे। जाट बहुल इलाके के खापों से जुड़े किसानों ने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) और दुष्यंत चौटाला के जननायक जनता पार्टी (जेजेपी) के नेताओं के सामाजिक बहिष्कार का भी ऐलान किया। गौरतलब है कि हरियाणा में बीजेपी और जेजेपी गठबंधन की सरकार है। अब घर बैठे बनेगा लर्निंग लाइसेंस, फर्जीवाड़े पर भी लगेगी लगाम, जानें क्या है नया सरकारी नियम

बैठक की अध्यक्षता करते हुए खेरा खाप के प्रमुख सतबीर पहलवान ने कहा कि 7 फरवरी को टिकरी बॉर्डर तक पैदल मार्च का फैसला लिया गया है। उन्होंने कहा, ”हमने सर्वसम्मति से फैसला लिया है कि अपने घरों से बीजेपी-जेजेपी के झंडे हटा देंगे और तिरंगा, बीकेयू का झंडा लगाएंगे। यह फैसला उन लोगों को जवाब देने के लिए लिया गया है जो इस जमीन पर राष्ट्रीय झंडे के प्रति हमारे प्यार को लेकर सवाल उठा रहे हैं। ये सवाल उन लोगों की ओर से पूछे जा रहे हैं जिनकी पीढ़ी ने कभी सीमाओं की रक्षा नहीं की।”

उन्होंने यह भी कहा कि बीजेपी-जेजेपी के नेताओं के सामाजिक बहिष्कार का भी फैसला लिया गया है। किसानों से यह भी कहा गया है कि इन पार्टियों के नेताओं को अपने गांवों में ना घुसने दिया जाए। उन्होंने कहा, ”हम सामाजिक कार्यक्रमों में सत्ताधारी पार्टी के नेताओं को नहीं बुलाएंगे। हम बीजेपी-जेजेपी सरकार को समर्थन दे रहे निर्दलीय विधायकों के खिलाफ भी प्रदर्शन करेंगे।”

सांगवान खाप ने दादरी में एक बैठक बुलाई और गांवों में सरपंच और वार्ड मेंबर्स की कमिटी बनाकर किसानों को दिल्ली की सीमाओं पर भेजने की घोषणा की। सांगवान खाप की अगुआई करने वाले दादरी के निर्दलीय विधायक सोमवीर सांगवान ने कहा कि उन्होंने बीजेपी-जेजेपी नेताओं और सरकार में चेयरमैन पदों पर बैठे लोगों के प्रवेश को रोकने का फैसला किया है।

उन्होंने कहा, ”हमने पहलवान बबीता फोगाट के पिता महाबीर सिंह से कहा है कि वे अपनी बेटी को किसानों को गाली देने से रोकें, यदि वह ऐसा करना जारी रखती है तो खाप उनके परिवार के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगा।” उधर, भिवानी और दादरी में सबसे प्रभावशाली खापों में से एक श्योराण खाप ने हरियाणा के डेप्यूटी सीएम दुष्यंत चौटाला, उनकी विधायक मां नैना चौटाला, भिवानी-महेंद्रगढ़ से सांसद धर्मेंबीर सिंह को अपने गांवों घुसने से रोकेगा।

‘रविवार से इंटरनेट नहीं तो रोकेंगे रास्ते’
17 खापों के प्रतिनिधियों और जिंद महापंचायत में शामिल हजारों किसानों ने कहा कि यदि रविवार तक इंटरनेट सेवा बहाल नहीं हुई तो वे जिले में सभी रास्तों को बंद कर देंगे। खाप नेताओं ने कहा, ”सरकार ने इंटरनेट बंद करके ना केवल हमारी आवाज दबाने की कोशिश की है, बल्कि हरियाणा के लाखों विद्यार्थियों की पढ़ाई को बाधित करने का प्रयास किया है। विद्यार्थियों की परीक्षाएं जब नजदीक हैं, इंटरनेट बैन का हरियाणा सरकार का फैसला अलोकतांत्रिक है। हम इस सरकार को बर्दाश्त नहीं करेंगे।”

Read also:- कांग्रेस को लगा बड़ा झटका, 47 सीटों पर बीजेपी ने दर्ज की जबरदस्त जीत

Source link