फ्रांस में हुए आतंकी हमले का समर्थन करना मुनव्वर राना को पड़ा भारी, एफआईआर दर्ज

76

लखनऊ। मशहूर शायर मुनव्वर राना ने फ्रांस में हुए आतंकी हमले को लेकर जो विवादित बयान दिया था उससे उनकी मुश्किलें अब बढ़ गई हैं। लखनऊ की हजरतगंज कोतवाली में मुनव्वर राना के खिलाफ गंभीर धाराओं में एफआईआर दर्ज की गई है। बीते दिनों मीडिया से बात करते हुए मुनव्वर राना ने फ्रांस में हुए आतंकी हमले को सही ठहराया था और उसका खुलकर बचाव करते हुए समर्थन किया था। उनका कहना था कि, उस युवा को पैगंबर मोहम्मद साहब का कार्टून बनाकर मजबूर किया गया तब उसने किसी का कत्ल किया।

इसे भी पढ़ें: घाटी में ढेर हुआ आतंक का ‘डॉक्टर’, तीन बीजेपी नेताओं को उतारा था मौत के घाट

इस आतंकी घटना का मुनव्वर राना समर्थन करते हुए कहा कि, अगर वो खुद उस युवक के स्थान पर होते तो वो खुद ही कत्ल कर देते। उनका कहना था कि बात सिर्फ पैगंबर साहब की नहीं है अगर कोई भगवान राम का भी विवादित कार्टून बनाता तो भी मैं ठीक ऐसा ही करता। मुनव्वर राना ने कहा था कि, मजहब मां की तरह है। लोगों की आस्थाएं मजहब से जुड़ी होती हैं। इससे किसी तरह का खिलवाड़ नहीं करना चाहिए। इतना किसी को नहीं उकसाना चाहिए कि, वह कत्ल करने पर आमादा हो जाए। फ्रांस में ऐसा कार्टून मुसलमानों को चिढ़ाने के लिए बनाया गया था।

फ्रांस में हुई आतंकी घटना के बाद पीएम नरेंद्र मोदी ने फ्रांस में हुई आतंकी घटना की निंदा करते हुए कहा था कि, भारत आतंक के खिलाफ जंग में फ्रांस के साथ है। इसे लेकर मुनव्वर राना ने कहा था कि, सियासत का भला यह कौन-सा अंदाज है कि, एक मुल्क के हाकिम को खुश रखने के लिए कोई सियासतदां 50 से अधिक अन्य मुस्लिम मुल्कों को असंतुष्ट कर दे। पीएम मोदी को फ्रांस से और राफेल चाहिए, हो सकता है वे ऐसा इसीलिए ही कह रहे हों।

इसे भी पढ़ें: नकली करेंसी के साथ युवक गिरफ्तार, 1 लाख 97 हजार रुपए के नकली नोट बरामद