शराब कारोबारियों ने छापेमारी करने गई टीम पर बोला हमला, पुलिस ने भाग के बचाई जान

182

गोंडा। कहा जाता है जो बोया जाएगा वही काटा जाएगा। अपराधियों के खिलाफ योगी सरकार चाहे जितना कड़ा रुख अख्तियार कर ले, लेकिन पुलिस और अपराधियों की साठगांठ के चलते सारी सख्ती पर पानी फिर जाता है। हर काम की वसूली देने वाले अपराधियों में पुलिस का खौफ बिल्कुल नजर नहीं आता। शायद यही कारण है कि अक्सर पुलिस पर हमले की खबरें सामने आती रहती हैं। ऐसी ही खबर उत्तर प्रदेश के गोंडा जनपद से सामने आ रही है, जहां अवैध शराब के कारोबारियों पर पुलिस ने छापेमारी की तो इन लोगों ने उल्टे पुलिस टीम पर ही हमला बोल दिया। फिलहाल पुलिस मौके की नजाकत को देखते हुए पहले तो भाग खड़ी हुई पर हर बार की तरह बाद में पुलिसिया रसूख दिखाते हुई बड़ी संख्या में पुलिस बल के साथ धावा बोल दिया। पुलिस ने इस दौरान आठ लोगों को गिरफ्तार किया है।

इसे भी पढ़ें: राहुल गांधी की योग्यता पर बराक ओबामा ने उठाए सवाल, बीजेपी नेताओं ने लिए मजे

जानकारी के अनुसार मामला गोंडा जनपद के थाना कोतवाली नगर क्षेत्र के गोड़ियन पुरवा का है। यहां अवैध शराब के कारोबार होने की सूचना पर आबकारी व कोतवाली नगर पुलिस ने संयुक्त छापेमारी करने गई थी, लेकिन ग्राम प्रधान ने लाठी—डंडों से लैस अपने साथियों के साथ पुलिस टीम पर हमला कर दिया। इस हमले में पुलिस के वाहन भी क्षतिग्रस्त हुए हैं। इसके बाद बड़ी संख्या में पहुंची पुलिस ने छापेमारी कर अवैध शराब बरामद करने के साथ ही आठ लोगों को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार किए गए इन लोगों पर वैधानिक कार्रवाई की जा रही है। वहीं इस घटना के बाद अपर पुलिस अधीक्षक ने दावा किया है कि जिले में किसी भी सूरत में अवैध शराब के कारोबार को चलने नहीं दिया जाएगा।

इस मामले में बात करने पर अपर पुलिस अधीक्षक महेंद्र कुमार का कहना है कोतवाली नगर क्षेत्र के अंतर्गत गोड़ियन पुरवा एक गांव है, जहां पर अवैध शराब का धंधा किये जाने की सूचना मिली थी, इसी शिकायत के आधार पर आबकारी टीम की तरफ से छापेमारी की गई है। पहले जब आबकारी टीम गांव में पहुंची तो दबंग ग्राम प्रधान व उसके अन्य साथियों ने टीम पर हमला बोल दिया, इस दौरान पुलिस टीम पथराव किया गया जिससे पुलिस का वाहन क्षतिग्रस्त हो गया।

इसे भी पढ़ें: यूपी में नहीं चल पाएगा शोले फिल्म के वीरू का यह रोल, सीएम योगी ने दिए ये निर्देश