अमेरिका ने चीन के खिलाफ अपनाया सख्त रुख, दक्षिण सागर में तैनात किया यह खतरनाक युद्धपोत

28
america china

नई दिल्ली। भारत और चीन के बढ़ते तनाव के बीच अमेरिका ने भी अब चीन पर सख्ती दिखानी शुरू कर दी है। वर्तमान अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन (Joe Biden) ने भी पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के नक्शे कदम पर चलते हुए चीन के खिलाफ सख्त रुख कायम कर रखा है। अमेरिका ने अब दक्षिण चीन सागर में चीन द्वारा अपना वर्चस्व कायम किये जाने की कोशिशों को नाकाम करते हुए अपने खतरनाक जंगी पोतों को दक्षिण चीन सागर की ओर रवाना का दिया है।

इसे भी पढ़ें:-युद्ध की तैयारियों में जुटा चीन, दक्षिण चीन सागर में शुरू किया युद्धाभ्यास

गौरतलब है कि लंबे समय से विश्व शक्ति बनने की कोशिश में लगा है। इसी कड़ी में वह अपना क्षेत्र विस्तार करने की भी पुरजोर कोशिश कर रहा है। इधर वह भारत और चीन की लगी सीमाओं पर अपना कब्जा बढ़ाने की कोशिश कर रहा है। वहीं दक्षिण सागर चीन में भी वह अपनी धाक जमाने में लगा है,लेकिन अब अमेरिका ने उसके मनसूबों पर पानी फेरते हुए विश्व के सबसे बड़े खतरनाक और परमाणु ऊर्जा से संचालित विमान वाहक युद्ध पोत यूएसएस निमित्ज को अमेरिका ने दक्षिण चीन सागर की ओर रवाना कर दिया है। इसके पहले यह युद्धपोत मिडिल ईस्‍ट में तैनात था, जिसे अब वहां से हटाकर इंडो-पैसिफिक क्षेत्र में उतार दिया गया है। जहां पर वह दुनिया के सबसे व्यस्त अंतरराष्ट्रीय समुद्री क्षेत्र पर नजर रखेगा।

सहयोगी देशों से संबंध सुधारना है प्राथमिकता

खबरों को मानें तो अमेरिका के नए राष्ट्रपति जो बाइडन (Joe Biden) भी चीन के खिलाफ कोई भी नरम रवैया अपनाने के मूड में नहीं है। उन्होंने अब तक अपनी चीनी समकक्ष से बात तक नहीं की है। अमेरिकी विदेश विभाग का कहना है कि अमेरिका की प्राथमिकता अपने सहयोगी देशों से बेहतर संबंध स्थापित करना है। फ़िलहाल बाइडेन प्रशासन के फैसले को देखकर ऐसा लगता है कि अमेरिका एशिया प्रशांत क्षेत्र में 36 देशों का साथ देने लिए दक्षिण चीन सागर के आसपास अपनी उपस्थिति बढ़ा सकता है।

इसे भी पढ़ें:-अमेरिका से तनाव, चीनी फाइटर जेट ने दक्षिण चीन सागर में बरसाया बम