5 माह की मासूम का शरीर बदलने लगा पत्थर में, इस दुर्लभ बीमारी का नहीं है कोई इलाज

0
57

लंदन। एक 5 माह की मासूम बच्ची का शरीर बेहद दुर्लभ जेनेटिक स्थिति की वजह से पत्थर का बनने लगा है। ब्रिटेन की रहने वाली बच्ची लेक्सी रॉबिन्स (Lexi Robbins) को ऐसी बीमारी हुई है, जिसका कोई इलाज नहीं है। डॉक्टर्स का कहना है कि यह बीमारी 20 लाख लोगों में से सिर्फ एक को ही होती है। 31 जनवरी को जन्म लेने वाली लेक्सी अन्य बच्चों की तरह ही तरह स्वस्थ थी लेकिन उसके पास कुछ ही समय बचा है। मासूम को लाइलाज बीमारी Fibrodysplasia Ossificans Progressiva हो गई है।

इसे भी पढ़ें: सावधान! यमुना एक्सप्रेस-वे पर सफर के दौरान आपकी एक चूक करा सकती है चालान

बच्ची अपने माता-पिता एलेक्स और डेव ग्रेट के साथ ब्रिटेन के हर्टफोर्डशायर में रहते हैं। बच्ची के हाथ के अंगूठे में एक दिन कोई हलचल नहीं हो रही थी, जिसके बाद उन्होंने बच्ची के पैर की उंगलियां देखीं तो वो भी असमान्य लगीं। इसके बाद बच्ची की जब डॉक्टर से जांच कराई तो सामने आया कि मासूम को घातक दुर्लभ बीमारी हो गई है। इस बीमारी में मसल्स और कनेक्टिव टिश्यू हड्डी की जगह ले लेते हैं।

ढांचे के बाहर ही हड्डी बनने लगती है, जिसकी वजह से पीड़ित व्यक्ति का चलना फिरना मुश्किल हो जाता है। स्थिति ऐसे होने लगती है, जैसे शरीर पत्थर का बनने लगता हो। इस बीमारी में लोगों की उम्र 40 वर्ष तक हो जाती है तो वहीं 20 वर्ष तक पीड़ित को बिस्तर पर पड़े रहना पड़ सकता है। लेक्सी के पैर का जब अप्रैल में एक्सरे हुआ तो पता चला कि बच्ची के अंगूठे में सूजन है और वो जुड़ा हुआ है।

लेक्सी की मां का कहना है कि ‘शुरुआत में एक्सरे देखकर लगा कि शायद लेक्सी को कोई सिंड्रोम है, जिससे वो चल नहीं सकेगी। बच्ची शारीरक रूप से काफी मजबूत थी इसलिए हमे इस बात पर यकीन नहीं था कि ऐसा भी कुछ हो सकता है। हमने लेक्सी के बेहतर इलाज के लिए कई एक्सपर्ट्स से बात की। मई माह के अंत में जब जेनेटिक टेस्ट हुआ और उसकी रिपोर्ट छह महीने तो पता चला कि लेक्सी को Fibrodysplasia Ossificans Progressiva बीमारी हुई है। एक्सपर्ट्स का कहना बच्ची की ज़िंदगी अभी खत्म नहीं हुई है और इलाज जारी है।

इसे भी पढ़ें: मानसून : गर्मी से मिलेगी राहत, इन राज्यों में होगी मूसलाधार बारिश, तापमान आएगी गिरावट