Friday, October 22, 2021

भारत को तेवर दिखाना पाकिस्तान को पड़ा भारी, एक कप चाय की कीमत ने उड़ाए होश

- Advertisement -
- Advertisement -

पाकिस्तान में बढ़ती महंगाई लोगों की कमरतोड़ रही है। लोगों की दिनचर्या पर बहुत बुरा असर पड़ रहा है। पिछले एक साल में पाकिस्तान में जबरदस्त महंगाई देखने को मिली है। शहर तो शहर गांव में भी महंगाई से बुरा हाल है। वहां के लोगों को रोजाना की चीजों में भी महंगाई की मार देख रहे हैं। आलम ये है कि पाकिस्तान के लोगों के लिए चाय का स्वाद पूरा दिन बना देता था लेकिन आज वह भी फीका पड़ चुका है। लेकिन अगर पाकिस्तान चाहता तो उसे भारत से कम दाम में चीनी मिल जाती लेकिन उसने इसी साल भारत से आयात करने से मना कर दिया था।

40 रूपए प्रति कप

पाकिस्तान के सुपरस्टार गेंदबाज शोएब अख्तर के शहर रावलपिंडी में चाय ने लोगों का स्वाद बेकार कर दिया है। यहां एक कप चाय की कीमत 40 रूपए हो चुकी है। कम आय वाले लोगों ने चाय पीना ही बंद कर दिया।Pakistan Imran Government In Trouble Trade Deficit Increased By 134 Percent  In May - पाकिस्तान: मुश्किल में इमरान सरकार, मई में 134 फीसदी बढ़ा व्यापार  घाटा - Amar Ujala Hindi News Live हुई बातचीत एक चायवाले ने कहा कि पहले एक कप चाय की कीमत 30 रूपए थी लेकिन महंगाई को देखथे हुए अब बढ़कर 40 रूपए हो चुकी है। हाल ही में चाय के दामों में एक बार फिर बढ़ोतरी की गई है। चायपत्ती, टी बैग्स, दूध, चीनी और गैस के दामों में बीते कुछ समय से लगातार बढ़ोतरी के चलते चाय की कीमत में 35 फीसदी की बढ़ोतरी देखने को मिली है।

इस शख्स का कहना था कि दूध के दाम 105 से बढ़कर 120 रूपए प्रति लीटर हो चुके हैं। चायपत्ती भी 900 रूपए और गैस सिलेंडर के दाम 1500 से 3000 हजार रुपए तक जा चुके हैं। इस चायवाले का कहना था कि उसकी कमाई में बहुत बुरा असर पड़ा है। पहले के जैसे बिल्कुल नहीं हो पाती। उसके पास चाय के दाम बढ़ाने के अलावा और कोई ऑप्शन नहीं बचा था। वही अब्दुल अजीज नाम के एक और चायवाले ने कहा कि मेरी एक दिन की टोटल कमाई 2600 रूपए थी लेकिन जब मैंने अपना पूरा मुनाफा जोड़ा तो मैं सिर्फ 15 रूपए फायदे में था। इससे मेरा बिल्कुल गुजारा नहीं हो पा रहा था। इसलिए ही मैंने चाय के दाम बढ़ाने का फैसला किया है।

गरीबों पर पड़ रही महंगाई की मार

पाकिस्तान में बढ़ती महंगाई का सबसे ज्यादा असर गरीबों पर पड़ रहा है। छोटे व्यापार पर भी पड़ेगा। क्योंकि चाय की कीमत बढ़ने से कई रेग्युलर कस्टमर्स ने चार या तीन कप की जगह पूरे दिन में मात्र एक कप ही पीना शुरू कर दिया है। वहीं कुछ ऐसे भी लोग हैं जो महंगाई से परेशान होकर पूरी तरह से चाय छोड़ने की योजना बना चुकें हैं।

पाकिस्तानी सरकार की जिद ने बढ़ाई आवाम की मुश्किलें

आपको बता दें कि पाकिस्तानी सरकार की जिद की वजह से वहां की आवाम को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। बीते दिन पहले ही ट्रेडिंग कॉरपोरेशन ऑफ पाकिस्तान द्वारा इंपोर्ट की गई 28,760 मीट्रिक टन चीनी की एक खेप पाकिस्तान पहुंची है। इस चीनी के लिए पाकिस्तान ने लगभग 110 रूपए प्रति किलो का भुगतान किया है। वहीं, पिछले साल जब टीसीपी ने एक लाख टन चीनी का इंपोर्ट किया था तब ये कीमत लगभग 90 रूपए प्रति किलो थी। भारतीय अधिकारियों के अनुसार, पाकिस्तान अगर चाहता तो उसे भारत से चीनी काफी कम कीमत में मिल सकती थी.

इसे भी पढ़ें-सेक्स रैकेट : कस्टमर बन पुलिस ने किया भांडाफोड़, पकड़ी गई चार लड़कियां

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -