ब्रिटेन से नहीं बल्कि इस देश से आया है कोरोना का न्यू स्ट्रेन, स्वास्थ्य मंत्रालय का बड़ा खुलासा   

11

एक तो पहले से ही पूरी दुनिया कोरोना वायरस के कहर से बेहाल थी, लेकिन अब कोरोना के इस न्यू स्ट्रेन ने और  अलग से आफत मचा रखी है। बताया जा रहा है कि कोरोना का यह न्यू स्ट्रेन ब्रिटेन से नहीं बल्कि दक्षिण अफ्रीका से सामने आया है।  इसका खुलासा फ्रांसीसी स्वास्थ्य मंत्रालय ने किया है। हाल ही में फ्रांस चाइल्ड केयर सेंटर में कुछ लोग कोरोना से संक्रमित पाए गए। लेकिन, यह जिस तरह के वेरियंट से संक्रमित  पाए गए हैं। वे  ब्रिटेन के वेरियंट से मेल  नहीं खाते। यह वेरियंट ब्रिटेन के वेरियंट से मुख्तलिफ बताए जा रहे हैं।  इस तरह के वेरियंट से संक्रमित पाए जाने के बाद फ्रांस में अफरातफरी का आलम है। लोग तो पहले से ही दहशत  में थे, लेकिन अब इस नए वेरियंट के बाद लोगों के खौफ में पहले से ज्यादा इजाफा  दर्ज किया जा रहा है।

फ्रांसीसी स्वास्थ्य मंत्रालय का कहना है कि अब इस वेरिएंट के  सामने आने के बाद हम दूसरे समूहों को चिन्हित कर रहे हैं। लोगों से एहतियात बरतने की अपील कर रहे हैं तथा उनसे कह रहे  हैं कि वे जारी किए गए दिशानिर्देशों का पालन करने हेतु पहले से अधिक संजीदगी बरते। मंत्रालय का कहना है कि रेनेस शहर में रहने वाले कुल 7 लोग इस नए वायरस के वेरिएंट से संक्रमित पाए गए हैं।  इस नए स्ट्रेन के बाद मंत्रालय का साफ कहना है कि यह इस नए बात का सुबूत है कि म्यूटेंट वायरस पहले से ही पूरे फ्रांस मेें फैल रहा है।

वहीं, इस संदर्भ में विस्तृत जानकारी देते हुए फ्रांसीसी अधिकारी ने कहा कि संक्रमित लोगों की बीमारी  मौजूदा वायरस के वेरिएंट से  से अलग मालूम पड़ती है। फिलहाल  तो अब इसके विश्लेषण के बाद ही  इंग्लैंड को लेकर बताए जा रहे इसके संबंंध का पता चलेगा।  वहीं फ्रांस ने हालातों के संवेदनशीलता को  भांपते हुए ब्रिटेन  से  अपने सारे बॉर्डर व विमान सेवाओं को रद्द कर दिया है।  फ्रांस का दो टूक कहना है कि जब तक हालात दुरूस्त नहीं हो जाते है, तब तक प्रतिबंध का यह सिलसिला जारी रहेगा। ये भी पढ़े :भारत में भी कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन की हुई एंट्री, ब्रिटेन से लौटे 6 यात्री मिले संक्रमित