अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति ने फेसबुक पर लगाया गलत आरोप, अब कह रहे…

48
trump

अमेरिका (America) के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पिछले साल फेसबुक (Facebook) पर बड़ा ही गलत आरोप लगाते हुए कहा कि फेशबुक गलत सूचना देता है। हालांकि ऐसा गलत आरोप लगाने के बाद ट्रंप को इस बात पर सफाई भी देनी पड़ी। ट्रंप ने इस पर पोस्ट्स के जरिए उन्होंने विरोधियों पर अमर्यादित हमले किए। एक ताजा अध्ययन से यह रिपोर्ट सामने आई है। इसके मुताबिक ट्रंप ने 2020 में छह हजार से ज्यादा फेसबुक पोस्ट डाले। इनमें करीब एक चौथाई का संबंध गलत सूचना या विरोधियों को निशाना बनाने से था।

इसे भी पढ़ें-22 फरवरी को पीएम मोदी करेंगे असम और पश्चिम बंगाल का दौरा, राज्यों को देंगे ये बड़ी सौगातें

मर्यादा का किया उल्लंघन

ये अध्ययन रिपोर्ट मीडिया मैटर्स नाम की एक संस्था ने जारी की है। ये संस्था का काम सोशल मीडिया पर डाले गए पोस्ट्स की निगरानी करना है। रिपोर्ट के मुताबिक एक जनवरी 2020 से 6 जनवरी 2021 के बीच ट्रंप ने कुल 1,443 ऐसे फेसबुक पोस्ट डाले, जिनमें कोरोना वायरस या पिछले साल हुए चुनाव के बारे गलत सूचनाएं दी गईं हैं। इस अवधि में ट्रंप ने कुल 6,081 पोस्ट डाले। यानी कुल पोस्ट्स के 24 फीसदी में उन्होंने मर्यादा का उल्लंघन किया।

500 से ज्यादा किए गलत पोस्ट

वेबसाइट ‘द हिल’ ने मीडिया मैटर्स के अध्ययन से जुड़ी जानकारियां छापी हैं। इसके मुताबिक उपरोक्त अवधि में ट्रंप के 500 से ज्यादा पोस्ट्स में कोरोना वायरस से संबंधित गलत खबरे दी है। जबकि संक्रामक रोगों के विशेषज्ञ इस बात का शुरूआत से विरोध कर रहे थे।

छह जनवरी की घटना के बाद ट्रंप के अकाउंट को फेसबुक कंपनी ने ब्लॉक कर दिया। सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म ट्विटर ने उन्हें जीवन भर के लिए प्रतिबंधित कर दिया है। फेसबुक ने अभी यह नहीं बताया कि उनके अकांउट के बारे में उनका क्या फैसला है। मीडिया मैटर्स ने फेसबुक पर यह आरोप लगाया कि वैसे तो फेसबुक कंपनी दूसरे लोगों के पेज बहुत हल्की बातों के लिए भी डिलीट करती रही है। जबकि ट्रंप या उनसे जुड़े एलेक्स जोन्स, रॉजर्स स्टन और स्टीव बेनन के पेज गंभीर दुष्प्रचार के बावजूद जारी रखे गए।

इसे भी पढ़ें-उम्र से बड़े सितारों पर आया था बॉलीवुड के इन स्टार्स का दिल