भावना ने बढ़ाया देश का मान, आस्ट्रेलिया की इस चोटी पर फहराया तिरंगा

101
INDIAN FLAG

नई दिल्ली: जिद और जूनून हो तो रास्ते कितने भी मुश्किल हों मंजिल मिलती जरूर है। इस कहावत को मध्यप्रदेश की भावना ने सच कर दिखाया। गरीब घर से संबंध रखने वाली भावना ने अपनी जिद के चलते होली के दिन ऑस्ट्रेलिया की माउंट कोसिउसजोयो चोटी पर तिरंगा फहराकर न सिर्फ देश का मान बढ़ाया,बल्कि यह भी साबित कर दिया कि सपनों को पूरा करने के लिए हौसले कि जरूरत होती है।

इसे भी पढ़ें:-महिलाओं के लिए प्रेरणा बनी यह महिला आईपीएस

घर में नहीं मिला समर्थन

मध्यप्रदेश के पाताल कोट के तामियां गांव की रहने वाली भावना ने देहरिया बताती हैं कि उनकी जिन्दगी आसान नहीं थी और न ही उनका सपना पूरा होना आसान था। वह एक गरीब परिवार से थी और लड़की होने की वजह से उन पर काफी पाबंदियां भी थीं। उनके पिता एक स्कूल में मास्टर थे और उनका मानना था कि बेटी की पढ़ाई पूरी होते ही उसकी शादी कर दी जाये। लेकिन भावना को तो जिद थी कि वह अपना सपना पूरा करेगीं। भावना ने जब पर्वतारोहण के अपने सपने का जिक्र घरवालों से किया तो किसी ने भी उनका समर्थन नहीं किया। हालंकि बाद में काफी मान मनौव्वल के बाद उन्हें पर्वतारोहण के सपने को पूरा करने की छूट मिल गयी। इसके बाद उन्होंने पर्वतारोहण में प्रशिक्षण लिया और पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्होंने शारीरिक शिक्षा में स्नातक किया।

इसे भी पढ़ें:-ब्रेन डेड मरीज ने अंगदान कर बचाई चार लोगों की जिन्दगी

एवरेस्ट पर भी फहरा चुकी हैं झंडा

वह बताती हैं कि दिल्ली के इंडियन माउंटेनयरिंग फाउंडेशन ने पर्वतारोहण का प्रशिक्षण के लिए सहयोग किया और वह अपने मुकाम को हासिल कर पायीं। भावना बताती हैं कि वह वर्ष 2016 से दिल्ली की इस संस्था की सदस्य हैं। इसी के माध्यम से उन्हें कई पर्वतारोहियों से मिलने का मौका मिला और पर्वतारोहण के बारे में जानकरी मिलती गयी। भावना ने 22 अप्रैल 2019 को माउंट एवरेस्ट पर तिरंगा फहराया था। वह माउंट एवरेस्ट पर चढ़ाई करने वाली मध्य प्रदेश की पहली महिला हैं। भावना ने 22 अप्रैल को उन्होंने (8,848 मीटर) की ऊंचाई पर सागरमाथा (एवरेस्ट) पर भारत का झंडा लहराया था।

इसे भी पढ़ें:-उत्तर प्रदेश में कब मिलेगी फ्री बिजली, ऊर्जा मंत्री ने दिया यह जवाब