Monday, July 4, 2022

साथी अधिकारी ने जब देखा भिखारी तो ठंड में ठिठूरता मिला अपना बैचमेट अधिकारी

- Advertisement -
- Advertisement -

ग्वालियर। जिन्दगी की सचाइयां हमेशा किस्मत की सहारे चलती हैं। किस्मत साथ न दे तो हंसती, खेलती जिन्दगी भी अवसाद में चली जाती है। मध्यप्रदेश के ग्वालियर से एक ऐसा ही मामला सामने आया है। डीएसपी रत्नेश तोमर सड़क किनारे जब एक भिखारी को ठंड में ठिठूरते देख कर परेशान हो गये। जब भिखारी के पास पहुंचे तो वे निःशब्द हो गये। अभी तक जिसे वह भिखारी समझ कर देख रहे थे वह उन्ही के बैच का अधिकारी था। ग्वालियर में उपचुनाव की मतगणना के बाद डीएसपी रत्नेश सिंह तोमर तथा विजय सिह भदौरिया झांसी रोड से के गुजर रहे थे। उन्हें बंधन वाटिका के फुटपाथ के पास भिखारी ठंड से ठिठुरता दिखाई पड़ा। दोनो अधिकारियों ने गाड़ी रोक कर उसके पासं पहुंचे। रत्नेश ने अपने जूते और डीएसपी विजय सिंह भ्ने अपनी जैकेट दे दी। इस बीच भिखारी और अधिकारियों के बीच बातचीत होने लगी। बातचीत में पता चला कि वह भिखारी डीएसपी के बैच का ही अधिकारी है। 10 साल से भिखारी के रूप में लावारिस हालात में घूम रहे पुलिस अफसर का नाम मनीष मिश्रा है। 1999 बैच के पुलिस अधिकारी मनीश अचूक निशानेबाज रहे हैं तथा कई थानों में थानेदार भी रहे है।

यह भी पढ़े:-भूत के साथ 15 साल से बनाती थी शारीरिक संबंध, अब चाहती है ब्रेकअप

मनीष मिश्रा ने 2005 तक पुलिस की नौकरी की और वह अंतिम समय में दतिया में नियुक्त रहे हैं। उनकी मानसिक स्थिति खराब हो गई। इलाज के दौरान ही वह घर छोड़ कर भाग गये। मनीश की पत्नी भी उन्हें छोड़कर चली गई। बाद में पत्नी ने तलाक ले लिया. धीरे-धीरे वह भीख मांगने लगे। मनीष दोनों अफसरों के साथ सन 1999 में पुलिस सब इंस्पेक्टर की पोस्ट पर भर्ती हुए थे। मनीष को एक समाजसेवी संस्था में रखवाया गया है। मनीष के भाई भी थानेदार हैं और पिता और चाचा एसएसपी के पद से सेवानिवृत्त हैं। मनीश की एक बहन दूतावास में अच्छे पद पर हैं। तलाक होने के बाद पत्नी भी न्यायिक विभाग में पदस्थ हैं।

यह भी पढ़े:-सड़कों पर भीख मांगने वाली नफीसा के खाते से मिले करोड़ों रुपए, गिरफ्तार

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -

https://www.aprendainglesozinho.com.br/profile/situs-judi-slot-terbaik-dan-terpercaya-no-1/profile

https://www.kubedliving.com/profile/situs-judi-slot-terbaik-dan-terpercaya-no-1/profile

https://www.foresixty.com/profile/situs-judi-slot-terbaik-dan-terpercaya-no-1-2022/profile

https://www.sciencefilm.ch/profile/situs-judi-slot-terbaik-dan-terpercaya-no-1/profile

https://www.truelovesband.com/profile/situs-judi-slot-terbaik-dan-terpercaya-no-1/profile

https://www.aprendainglesozinho.com.br/profile/judi-slot-online-jackpot-terbesar/profile

https://www.kubedliving.com/profile/daftar-judi-slot-online-jackpot-terbesar/profile

https://www.foresixty.com/profile/daftar-judi-slot-online-jackpot-terbesar/profile

https://www.sciencefilm.ch/profile/judi-slot-online-jackpot-terbesar/profile

https://www.truelovesband.com/profile/judi-slot-online-jackpot-terbesar/profile

https://www.kubedliving.com/profile/slot-gacor-gampang-menang/profile

https://www.foresixty.com/profile/situs-slot-gacor-gampang-menang/profile

https://www.sciencefilm.ch/profile/slot-gacor-gampang-menang/profile

https://www.truelovesband.com/profile/situs-slot-gacor-gampang-menang/profile

https://www.aprendainglesozinho.com.br/profile/slot-gacor-gampang-menang/profile

https://www.kubedliving.com/profile/info-slot-gacor-hari-ini/profile

https://www.foresixty.com/profile/info-slot-gacor-hari-ini/profile

https://www.sciencefilm.ch/profile/info-slot-gacor-hari-ini/profile

https://www.truelovesband.com/profile/info-slot-gacor-hari-ini/profile

https://www.aprendainglesozinho.com.br/profile/info-slot-gacor-hari-ini/profile