Monday, May 23, 2022

Omicron के खिलाफ काफी कारगर है वैक्सीन, WHO की चीफ साइंटिस्ट के इस दावे ने दुनिया को दी बड़ी राहत

ओमिक्रोन के मामलों में तेजी को देखने को मिल रही है लेकिन अब तक काफी लोगों को ही अस्पताल में भर्ती करने की जरूरत पड़ी है। अच्छी बात यह है कि मरीजों को वेंटिलेटर की जरूरत कम पड़ रही है। जिन लोगों को टीका लग चुका है या पहले कोरोना हो चुका है, उन्हें इस संक्रमण से बचाव मिल रहा है।

- Advertisement -
- Advertisement -

नई दिल्ली। भारत में ओमिक्रोन वेरिएंट के मामले काफी तेजी से बढ़ रहे हैं। देश में अब तक 961 केस सामने आ चुके हैं। इस बीच दुनिया में चर्चा है कि अब तक वैक्सीन का एक भी डोज न लेने वालों और वैक्सीन ले चुके दोनों लोगों को ओमिक्रोन से संक्रमित हो रहे हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के मुख्य वैज्ञानिक डॉ. सौम्या स्वामीनाथन ने दावा है कि, ओमिक्रोन वेरिएंट पर वैक्सीन अभी भी प्रभावी हैं। उन्होंने कहा है कि ऐसा लग रहा है कि वैक्सीन काफी प्रभावी साबित रही है। कई देशों में भले ही काफी तेजी से ओमिक्रोन वेरिएंट से संक्रमण की संख्या बढ़ रही हो लेकिन इसकी गंभीरता अभी नए स्तर पर नहीं है।

इसे भी पढ़ें : CM योगी ने मालेगांव ब्लास्ट मामले में गवाह के दावे पर दी प्रतिकिया, कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कही ये बड़ी बात

बुधवार को डब्ल्यूएचओ की मुख्य वैज्ञानिक डॉ. स्वामीनाथन ने वैक्सीनेशन पर जोर दिया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि, ‘जैसा कि अपेक्षित था, टी सेल की प्रतिरक्षा ओमिक्रोन के खिलाफ बेहतर है। जो हमें गंभीर बीमारी से बचाएगा। अगर आपने अब तक वैक्सीन नहीं ली है तो कृपया वैक्सीन जरुर लगवाएं। अभी ओमिक्रोन को लेकर सबूत जुटाए जा रहे हैं और अभी किसी भी निर्णय पर पहुंचना जल्दबाजी होगी।

टीकाकरण पर दिया जोर
डब्ल्यूएचओ की मुख्य वैज्ञानिक ने कहा कि, कोरोना की जांच जिन लैब्स में चल रही हैं, उनसे जानकारी मिली है कि, जिन लोगों ने कोरोना वैक्सीन ली है या जिन्हे कोरोना पहले हो चुका है। वो उन्हें ओमिक्रोन से बचा रहा है, उनके लिए ओमिक्रोन खतरनाक नहीं है। आज दुनिया में देखने को मिल रहा है कि संक्रमण काफी तेजी से बढ़ रहा है। ऐसा इसलिए क्योंकि संक्रमण वैक्सीन लेने वालों को और न लेने वालों दोनों को हो रहा है। वैक्सीन ओमिक्रोन से अभी भी बचाव का काम कर रही है।

वैक्सीन और कोरोना से बढ़ी इम्युनिटी
ओमिक्रोन के मामलों में तेजी को देखने को मिल रही है लेकिन अब तक काफी लोगों को ही अस्पताल में भर्ती करने की जरूरत पड़ी है। अच्छी बात यह है कि मरीजों को वेंटिलेटर की जरूरत कम पड़ रही है। जिन लोगों को टीका लग चुका है या पहले कोरोना हो चुका है, उन्हें इस संक्रमण से बचाव मिल रहा है।

इसे भी पढ़ें : ‘धनकुबेर’ पीयूष जैन पहुंचा कोर्ट, कहा – 125.45 करोड़ वापस लौटाओ, जानें पूरा मामला

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -