इन 11 लक्षणों के आधार पर जानें आप कोरोना संक्रमित हैं या नहीं

85

नई दिल्ली। कोरोना संक्रमण के मामलों में लगातार बढ़ोत्तरी दर्ज की जा रही है, विश्व में अब तक 1 करोड़ 36 लाख से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं जबकि 5 लाख 86 हज़ार से ज्यादा मरीजों की मौत हो चुकी हैं। इस बीच राहत की बात यह सामने आई है कि, भले ही इस वक़्त संक्रमण की कोई वैक्सीन मौजूद नहीं है फिर भी बड़ी संख्या में कोरोना के मरीज तक होकर घर जा रहे हैं। सभी देशों में कोरोना रिकवरी रेट सुधर ही रहा है। कोरोना वायरस के लिए विश्व के कई देशों में वैक्सीन बन चुकी है, उनका ट्रायल चल रहा है अगर यह सफल रहता है तो फिर बाजार में भी जल्द ये वैक्सीन उपलब्ध होगी। इस वैक्सीन को बनाने में अमेरिका, ब्रिटेन, रूस और भारत काफी आगे हैं। बस इंतज़ार है इनके सफल ट्रायल के होने का। भारत की जनसंख्या 130 करोड़ है और सभी की जाँच करना मुमकिन नहीं है। इस वक़्त देश में लक्षणों के आधार पर कोरोना टेस्ट किया जा रहा है।

इसे भी पढ़ें: कोरोना के बढ़ते मामलों ने बढ़ाई चिंता, संक्रमित मरीजों के ग्राफ में होगा जबरदस्त उछाल

अन्य देशों में मुकाबले भारत में कोरोना के मरीज काफी तेजी से इस वक़्त बढ़ रहे है लेकिन अच्छी खबर यह है कि, देश में कोरोना के मरीजों का रिकवरी रेट भी रोजाना सुधर रहा है। देश में कोरोना के नीचे दिए लक्षणों के आधार पर टेस्ट किए जा रहे हैं।

  • तेज बुखार
  • सूखी खांसी,
  • गले में खराश होना
  • सांस लेने में तकलीफ होना
  • बदन दर्द, सिर दर्द, थकान,
  • ठंड लगना या ठिठुरना, उल्टी आना
  • दस्त, बलगम में खून आना

भारत में स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा कोरोना से बचाव के लिए जरूरी टिप्स जारी की गई है।

  • सोशल डिस्टेंसिंग का हमेशा पालन करें।
  • दोबारा प्रयोग होने वाला घर पर बना मास्क या फेस कवर प्रयोग करें।
  • दोबारा यूज़ होने वाले मास्क घर में बने ही प्रयोग करें।
  • अपनी आंख, नाक व मुंह को छूने से बचें।
  • श्वसन क्षमता बनाए रखें, बार-बार हाथ धोएं।
  • तंबाकू उत्पादों का सेवन न करें।

कोरोना संकट के दौरान अनावश्यक यात्रा न करें, भीड़-भाड़ वाली जगहों पर जाने से बचे। अपने स्मार्ट फ़ोन में आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड कर उसे हमेशा एक्टिव रखें। सार्वजनिक स्थानों पर न थूकें। कोरोना संक्रमित या फिर देखभाल में जुटे कोरोना वारियर्स से भेदभाव न करें। कोरोना से जुड़ी कोई भी जानकारी या फिर मदद के लिए सरकार द्वारा जारी टोल फ्री हेल्पलाइन 1075 पर कॉल करें।

इसे भी पढ़ें: लगातार और घातक होता जा रहा है कोरोना, जांच में सामने आए चौंकाने वाले तथ्य