यूरिक एसिड से निजात पाना है तो इन चीजों का करें सेवन

94
PTTA GODHI

जब आप बैलेंस डाइट नहीं ले पाते तो शरीर में यूरिक एसिड बढ़ने के चांसेज बढ़ जाते हैं, जो लोग प्रोटीन युक्त आहार का सेवन अधिक मात्रा में करते हैं तो धीरे-धीरे उनके शरीर में यूरिक एसिड बढ़ने लगता है। यूरिक एसिड को नियंत्रित करने के लिए परहेज सबसे ज्यादा आवश्यक है। खान-पान का ध्यान रखने से इस परेशानी से कुछ हद तक निजात पाई जा सकती है। प्रोटीन वाले 100 ग्राम खाद्य पदार्थों में 200 मिली ग्राम प्यूरीन होता है जिससे शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ जाती है। यूरिक एसिड की ज्यादा मात्रा से हार्ट डिजीज, हाईपरटेंशन, किडनी स्टोन और गठिया जैसी बीमारियां होने का खतरा रहता है। शरीर में विटामिन सी की कमी के कारण भी यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ जाती है।

पालक: पालक में विटामिन-सी की उच्च मात्रा पाई जाती है इसलिए यूरिक एसिड के मरीजों के लिए पालक बेहद फायदेमंद होता है। पालक का सेवन करने से यूरिक एसिड से होने वाले जोड़ों के दर्द से भी राहत मिलती है। पालक की सब्जी या फिर सूप पी सकते हैं।

संतरा: विटामिन सी के लिए आप संतरे के जूस का नियमित सेवन कर सकते हैं। यह शरीर के विषाक्त पदार्थों को नष्ट करता है और यूरिक एसिड के लेवल को भी कंट्रोल करता है संतरा खाने से हड्डियों में भी मजबूती आती है।

फूल और पत्त्ता गोभी: फूलगोभी और पत्ता गोभी में भी विटामिन-सी की मात्रा ठीक ठाक होती है। एक छोटी पत्ता गोभी में 74.8 मिलीग्राम विटामिन-सी होता है। पत्ता गोभी यूरिक एसिड के मरीजों के लिए बेहद फायदेमंद होती है। साथ ही यह जोड़ों के दर्द से राहत दिलाता है।

लीची: लीची में भी विटामिन-सी अच्छी मात्रा में होती है। लीची के प्रति 100 ग्राम में 71.5 मिग्रा विटामिन-सी होता है। इसलिए यूरिक एसिड के मरीजों को डाइट में लीची जरूर लेनी चाहिए। इतना ही नहीं यह यूरिक एसिड के लक्षणों को भी कंट्रोल करता है।

हरी मिर्च: आपको जानकर हैरानी हो लेकिन हरी मिर्च में भी काफी मात्रा में विटामिन सी पाया जाता है। महज 100 ग्राम हरी मिर्च से आपको 242 एमजी विटामिन सी प्राप्त होता है।

इसे भी पढ़ें:-जानिए कैसे विटामिन सी इम्युनिटी सिस्टम को करता है बूस्ट, वायरस को रखेगा दूर