अगर आपको भी लगती है बार-बार प्यास तो न करें अनदेखा, हो सकती है जानलेवा बीमारी

53
Polydipsia

हम सभी जानते ही हैं जीवित रहने के लिए सभी को हवा, पानी और भोजन की सबसे अधिक या यूं कहे कि इनके बिना कोई भी व्यक्ति जीवित ही नहीं रह सकता। जिनमें हवा का नंबर सबसे पहला है क्योंकि बिना हवा हम सांस नहीं ले सकते हैं। इसके बाद नंबर आता है जल का। आपने सुना ही होगा कि जल ही जीवन है। पानी के बिना व्यक्ति केवल कुछ ही घंटों या दिनों तक ही जीवित रह सकता है। यही कारण है कि बड़े और डॉक्टर कहते हैं कि शरीर में पानी की कमी न होने दें। जब भी प्यास लगे, तुरंत पानी पी लें। लेकिन कभी कभी या कुछ लोगों को ऐसा भी होता है कि जरूरत से कुछ अधिक ही प्यास लगती है। आज हम आपको बता दें कि ज्यादा प्यास लगना एक बीमारी भी हो सकती है। या फिर किसी और बीमारी के लक्षण हो सकते हैं। हम आपको बताते हैं कि ज्यादा प्यास लगने की इस समस्या के बारे में…

इसे भी पढ़ें:- PM मोदी ने की ‘One Nation One Health Card’ की घोषणा, जानिए क्या है इसकी खासियत

सामान्य से ज्यादा प्यास लगने की समस्या को डॉक्टरी भाषा में ‘पॉलीडिप्सिया’ कहते हैं। डॉक्टरों का मानना है कि इस समस्या से पीड़ित इंसान की प्यास इतनी ज्यादा बढ़ जाती है कि वह चाहे कितना भी पानी पी ले, मगर उसकी प्यास नहीं बुझती और वो कोई शारीरिक गतिविधि भी नहीं करते और ठंडे एन्वॉयरमेंट में आराम से रहते भी हैं।

अत्याधिक प्यास का लगना कई बार गंभीर बीमारियों का संकेत – Teekhi Nazarजानिए पॉलीडिप्सिया के क्या लक्षण होते हैं? 

  • बार-बार प्यास लगना और पानी पीना
  • पानी पीने के बाद भी प्यास का एहसास होना
  • हमेशा मुंह सूखना
  • मुंह से निकलने वाली लार गाढ़ा हो जाती है

Excessive Thirst Also Called Polydipsia Causes Symptoms And Treatment - अधिक प्यास लगना भी है एक बीमारी, जानें इसके लक्षण और बचाव के उपाय - Amar Ujala Hindi News Liveज्यादा प्यास लगने की अन्य वजह

  • एक्सरसाइज या योग करने के दौरान ज्यादा पसीना आना
  • दस्त के कारण शरीर में पानी की कमी होना
  • पर्याप्त मात्रा में पानी न पीने से
  • ज्यादा मसालेदार या ज्यादा नमक वाला भोजन का सेवन करने से
  • चाय या कॉफी का अधिक सेवन

अगर आप खड़े होकर पीते हैं पानी तो जल्दी से जान लें ये बातें वरना पछताओगे - Sabkuchgyanज्यादा पानी पीना नुकसानदायक क्यों ?
आवश्यकता से ज्यादा पानी पीने से शरीर में सोडियम की मात्रा कम हो सकती है और इसकी कमी से कमजोरी, थकान, ऊर्जा की कमी, सिर में दर्द, दिल घबराना, मतली या उल्टी, चिड़चिड़ापन और मांसपेशियों में ऐंठन की परेशानी हो सकती है। गंभीर मामलों में मस्तिष्क में सूजन आ सकती है और यहां तक कि मिर्गी के दौरे भी पड़ने का खतरा बना रहता है, जिसके कारण रोगी का कोमा में जाने का खतरा बना रहता है या मौत भी हो सकती है। यदि आपको भी बार-बार प्यास लगती है तो आपको इसे अनदेखा न करें और तुरंत ही किसी अच्छे डॉक्टर को दिखाएं।

इसे भी पढ़ें:- इस खास Health Tips को अपनाकर खांसी से पा सकते हैं छुटकारा