बीजेपी का हुआ सफाया, कांग्रेस ने किया चुनाव में अब तक का सबसे जबरदस्त प्रदर्शन

960

नई दिल्ली। किसान आंदोलन का प्रभाव पंजाब में हुए स्थानीय निकाय चुनाव में देखने को मिला है। राज्य में हुए 117 शहरी निकाय चुनाव की मतगणना जारी है, जिसमे कांग्रेस सबसे आगे चल रही है। शुरुआती नतीजों में कांग्रेस पहले नंबर पर है। केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ पिछले 80 दिनों से किसानों का आंदोलन दिल्ली सीमा पर जारी है। सरकार कानून वापस लेने के लिए तैयार नहीं है। वहीं किसानों का कहना है कि, वो तब तक वापस नहीं जाएंगे, जब तक सरकार कानून वापस नहीं ले लेती है।

इसे भी पढ़ें: अब किसानों पर पड़ रही कर्ज की मार, फसलों के लिए करना होगा यह काम

राज्य में बीजेपी को बड़ा झटका लगा है। जो नतीजे सामने आ रहे हैं वो सच में चौका देने वाले हैं। कई निकायों में तो भारतीय जनता पार्टी का सूपड़ा तक साफ़ हो गया है। वोटों की गिनती बुधवार सुबह 8 बजे से जारी है। निकाय चुनाव में 2,252 उम्मीदवार अपनी किस्मत को आजमा रहे हैं। वोटों की गिनती के केंद्रों पर सुरक्षा व्यवस्था काफी सख्त की गई है। पंजाब में चुनाव के दौरान झड़प और बूथ कैप्चरिंग की भी खबरें सामने आई थीं। 14 फरवरी को हुए चुनाव में 39,15,280 वोटर्स ने वोट डाला था। राज्य में 71.39 प्रतिशत मतदान हुआ था।

अबोहर नगर निगम चुनाव में तो बीजेपी शून्य पर आ गई है। जिले में निकाय की कुल 50 सीटें हैं, जिसमे से कांग्रेस 49 पर आगे चल रही है, जबकि अकाली दल एक पर आगे है। बीजेपी और आप का तो खाता ही नहीं खुला है।

होशियारपुर में हुए नगर निगम चुनाव में कांग्रेस ने सभी पार्टियों के छक्के छुड़ा रखे हैं। जिले में निकाय की कुल 50 सीटें हैं, जिसमे से कांग्रेस 41, बीजेपी 4 और आप 2 सीटों पर आगे चल रही है। जबकि अकाली दल अपना खाता तक नहीं खोल सकी है। वहीं तीन सीटें निर्दलीय को को गईं है।

अमृतसर में भी बीजेपी को झटका लगा है, उसका खाता तक नहीं खुल पाया है। जिले में कुल 68 सीटों पर मतदान हुआ है, जिसमे से कांग्रेस 40 और अकाली दल 25 सीटों पर आगे हैं।

इसे भी पढ़ें: भूल जाइये सस्ता इंटरनेट और फ़ोन पर लंबी बातचीत करना, प्लान महंगे करने की तैयारी में टेलीकॉम कंपनियां