कांग्रेस को लगा बड़ा झटका, इस राज्य में गिरी सरकार, केंद्र पर भड़के सीएम

475

नई दिल्ली। कांग्रेस को एक और राज्य बड़ा झटका लगा है। कांग्रेस और डीएमके के गठबंधन की सरकार पुडुचेरी में गिर गई है। सदन में आज सीएम वी नारायणसामी बहुमत साबित नहीं कर पाएं हैं, जिसके बाद सीएम अब उपराज्यपाल (एलजी) से मिलने उनके निवास जा रहे हैं। गठबंधन सरकार को एलजी तमिलसाईं सुंदरराजन ने सोमवार शाम पांच बजे तक विधानसभा में बहुत साबित करने का निर्देश दिया था।

इसे भी पढ़ें: पेट्रोल-डीजल के बाद अब प्याज के दामों ने भरी उड़ान, बढ़ती महंगाई से आम आदमी को नहीं मिलेगी राहत

रविवार राज्य को उस वक़्त और बड़ा झटका लगा जब उनके दो विधायकों को इस्तीफा दे दिया, जिसके बाद सत्तारूढ़ गठबंधन के पास सिर्फ 11 विधायक ही बचे। इससे ये साफ़ हो गया था कि, सोमवार को सीएम सदन में बहुमत साबित नहीं कर पाएंगे। राज्य की विधानसभा में 33 सदस्य है। विपक्ष के पास इस समय 14 विधायक हैं, जबकि सत्ता पक्ष के पास 11 विधायक है।

सदन में चर्चा के दौरान सीएम नारायणसामी ने पूर्व राज्यपाल और केंद्र सरकार पर विपक्ष के साथ मिली भगत का आरोप लगाया। वहीं उन्होंने ये भी कहा कि, पार्टी के विधायकों को वफादार होना चाहिए। सीएम का कहना है कि, जिन विधायकों ने इस्तीफा दिया है वो लोगों का सामना नहीं कर पाएंगे क्योंकि उन्हें लोग अवसरवादी नेता बोलेंगे। सदन में सरकार जब बहुमत साबित नहीं कर पाई तो विधानसभा अध्यक्ष ने अनिश्चितकाल के लिए सदन की कार्यवाही को स्थगित कर दिया है।

गठबंधन सरकार गिरने के बाद विपक्ष के नेता एन रंगासामी ने कहा है कि, कांग्रेस अपने सभी विधायकों को एकजुट रखने असफल साबित हुई है। सीएम ने पूर्व एलजी किरण बेदी और मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि, विपक्ष के साथ मिलकर हमारी सरकार को गिराने का प्रयास किया गया।

हमारे विधायक एक साथ रहे और हमने करीब करीब 5 वर्ष पूर्व पूरे किये। हमारे द्वारा जो राशि केंद्र से मांगी गई। उसे केंद्र ने न देकर राज्य की जनता के साथ धोखा दिया। राज्य की जनता हम पर भरोसा करती है। हमने राज्य में चुनाव और उपचुनाव दोनों में ही जीत दर्ज की है।

इसे भी पढ़ें: रेगिस्तान में हुई भारी बर्फबारी, बिछी सफेद चादर, ऊंटों पर जमी बर्फ, हैरान हुए लोग