बीजेपी में शामिल हुए पीएम मोदी के करीबी IAS अरविंद शर्मा, मिल सकती है ये बड़ी जिम्मेदारी

100

लखनऊ। पीएमओ के पूर्व अधिकारी और गुजरात कैडर के पूर्व IAS अरविंद शर्मा ने आज बीजेपी का दामन थाम लिया। उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा और यूपी बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह की मौजूदगी में अरविंद शर्मा में पार्टी में शामिल हुए। बीजेपी में शमिल होने के बाद पूर्व IAS ने कहा कि, वो पार्टी में शामिल होने के बाद काफी खुश हैं। पीएम नरेंद्र मोदी के अरविंद शर्मा काफी करीबी बताए जाते हैं। ख़बरों के अनुसार, उन्हें जल्द ही प्रदेश में बड़ी जिम्मेदारी भी मिल सकती है। बीते सोमवार को ही अरविंद शर्मा ने वीआरएस लिया है। उन्होंने पहले सीएमओं में फिर पीएमओं में भी अहम भूमिका निभाई है।

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस सरकार में हुए बेइज्जत, बीजेपी ने दिया सम्मान, देश के सच्चे हीरो की कहानी जल्द आ रही है बड़े पर्दें पर

पिछले कुछ समय में बीजेपी में कई ब्यूरोक्रेट्स शामिल हुए हैं। जो केंद्र सरकार की कैबिनेट से लेकर संसद और उतर प्रदेश विधानसभा तक में रिटायरमेंट या फिर VRS के बाद आये हैं। गुजरात कैडर के पूर्व IAS अरविंद शर्मा मुलत: मऊ के ही निवासी है। वर्ष 2001 से 2013 तक नरेंद्र मोदी जब गुजरात के सीएम थे तब वो सीएम ऑफिस में ही कार्यरत रहे थे।

इसके बाद जब मोदी पीएम बने तो अरविंद शर्मा पीएमओ में संयुक्त सचिव बने। उनकी नौकरी के अभी लगभग दो वर्ष बचे थे लेकिन उन्होंने सोमवार को VRS ले लिया और आज बीजेपी में शामिल हो गए। उन्हें लेकर इस बात की भी चर्चा है कि, उन्हें यूपी में एमएलसी बनाया जा सकता है और सरकार में बड़ी भूमिका दी जा सकती है।

वहीं विधान परिषद में भी सभपति के चुनाव होना है। इस बीच सभी दलों की नज़रे समाजवादी पार्टी पर टिकी हुई है कि, वो किसे और कितनी सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारती है। विधान परिषद के सभापति रमेश यादव सपा कोटे से ही बने थे, जिनका कार्यकाल तीस जनवरी को पूरा हो रहा है। ऐसे में अब अन्य सभापति को लेकर सवाल उठ रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: कैबिनेट मंत्री के दामाद को किया गया गिरफ्तार, बोले- मुझे न्यायपालिका पर पूरा भरोसा