लॉकडाउन की आहट सुन गांव लौटने लगे प्रवासी मजदूर, स्टेशनों पर उमड़ी भारी भीड़

346

नई दिल्ली। देश कोरोना की दूसरी लहर का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है। पिछले 24 घंटे में देश में संक्रमण के सवा लाख से ज्यादा मामले सामने आए हैं। कोरोना की इस रफ्तार को देखकर लोगों को यही लग रहा है कि दोबारा पूर्ण लॉकडाउन लग सकता है। पिछले बार जब लॉकडाउन लगा था तो सबसे ज्यादा प्रभावित प्रवासी मजदूर हुए थे, जिसे देखते हुए प्रवासी मजदूर दोबारा अपने घरों की तरफ बढ़ने लगे हैं। संक्रमण के बढ़ते मामलों के देखते हुए सरकार लगातार सख्तियां बढ़ाती जा रही हैं। इसे देखकर यही लग रहा है कि लॉकडाउन लगना भी ज्यादा दूर नहीं है। यही वजह है कि मुंबई, पुणे, दिल्ली से बड़ी संख्या में प्रवासी मजदूरों ने वापस अपने गांव पहुंचना शुरू कर दिया है।

इसे भी पढ़ें:- गैंगस्टर एक्ट मामले में मुख्तार अंसारी की मऊ कोर्ट में आज होगी पहली पेशी

दिल्ली के आनंद विहार टर्मिनल पर बड़ी संख्या में प्रवासी मजदूर पहुंच रहे हैं। किसी को बिहार जाना है तो किसी झारखंड। अलग-अलग राज्यों के रहने वाले ये मजदूर पिछली बार की तरह लॉक डाउन में नहीं फंसना चाहते हैं। यही वजह है कि अब सब पहले ही घर की लिए निकल चुके हैं। दिल्ली में कोरोना की बेकाबू रफ़्तार को देखते हुए राज्य में नाईट कर्फ्यू लगा दिया गया है। उसके बाद भी कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं ऐसे में अब लोगों को लॉक डाउन लगने का डर सता रहा है।

दिल्ली के आलावा मुंबई, पुणे में भी यही नजारा देखने को मिल रहा है। बड़ी संख्या में प्रवासी मजदूर स्टेशन पहुंच रहे हैं। जो अपने गांव या शहर वापस जाना चाहते हैं। कोरोना बढ़ते मामलों के बीच जिस तरह से रेलवे स्टेशन पर भारी भीड़ हो रही है, उसे देखते हुए कोरोना का खतरा और ज्यादा बढ़ रहा है। रेलवे द्वारा बार-बार अपील की जा रही है कि कोरोना प्रोटोकॉल का पालन किया जाये लेकिन ऐसा हो नहीं रहा है। राजस्थान, मध्य प्रदेश, दिल्ली, महाराष्ट्र , उत्तर प्रदेश में नाईट कर्फ्यू लग चुका है। ऐसे में अब लॉकडाउन घोषणा न किसी दिन अचानक हो जाये। यही डर लोगों के पलायन की वजह बना हुआ है।

इसे भी पढ़ें:- जब बिना मास्क के घूम रहे बीजेपी विधायक को पुलिस ने रोका तो देने लगे ‘अनोखा ज्ञान’