महापंचायत का टूटा मंच, टिकैत ने दी चेतावनी, कहा- अभी तो बिल वापसी की बात की है, कहीं गद्दी वापस मांग ली तो…

400

नई दिल्ली। किसान आंदोलन के समर्थन में जींद में महापंचायत का आयोजन हुआ। इस दौरान किसान नेता राकेश टिकैत जैसे ही आयोजन स्थल पर पहुंचे और मंच चढ़े ही थे कि, मंच टूट गया। मंच पर क्षमता से अधिक लोग चढ़ गए थे, जिस वजह से वो टूट गया। इस वजह से किसान नेता गुरनाम सिंह चढूनी और राकेश टिकैत मंच से नीचे गिर गए। खबरों के अनुसार, इस घटना में किसी को भी गंभीर चोट नहीं आई है। महापंचायत का आयोजन जिस मकसद से किया गया था, वो सफल रहा है। आयोजन में उम्मीद के मुताबिक ही लोग आए थे।

इसे भी पढ़ें: किसान आंदोलन: बहस में कूदे अक्षय कुमार, किया विदेश मंत्रालय के इस बयान का समर्थन

राकेश टिकैत जब मंच पर पहुंचे और लोगों को संबोधित करने जा ही रहे थे कि, उससे पहले ही मंच टूट गया। इस दौरान वहां हड़कंप मच गया। इसके कुछ समय बाद ही राकेश टिकैत ने महापंचायत को संबोधित करते हुए कहा कि, मंच तो भाग्यवानों के ही टूटते हैं। महापंचायत का आयोजन पहले कंडेला खाप के ऐतिहासिक चबूतरे पर होना था, लेकिन महापंचायत को लेकर उम्मीद थी कि, भारी संख्या में लोग आएंगे। यही वजह रही कि, 7 एकड़ में बने स्टेडियम में महांपचायत का आयोजन किया गया है।

राकेश टिकैत जब मंच पर पहुंचे तो उन्हें हल देकर सम्मानित किया गया। उनके सम्मान में लोग अपने-अपने स्थान पर ही खड़े हो गए थे। इसके बाद महापंचायत में आए लोगों का उत्साह देखकर टिकैत भी खुश हुए और लोगों से बैठने की अपील की। इस दौरान बीकेयू के महासचिव युद्धवीर सिंह ने कहा कि, राजधानी दिल्ली में एक लाख लोग हैं, जिनकी संख्या एक करोड़ होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि, आप जब भी सन्देश आए तो दिल्ली पहुंचे।

मंच टूटने के बाद उसे ठीक किया गया, जिसके बाद सरकार को चेतावनी देते हुए राकेश टिकैत ने कहा कि, अभी तो हमने सिर्फ बिल वापसी की बात की है। अगर कहीं गद्दी वापसी की बात कर दी तो सरकार क्या करेगी। टिकैत ने कहा कि, ये युवाओं की क्रांन्ति का वर्ष है।

इसे भी पढ़ें: किसान आंदोलन के समर्थन में उतरीं मिया खलीफा, किया ये बड़ा ऐलान