कश्मीर के 100 युवक हुए लापता, सुरक्षा एजेंसियां हुईं अलर्ट

84
Indian security agencies

नई दिल्ली। कश्मीर के 100 युवक पाकिस्तान में पहुंच कर लापता हो गए हैं। पिछले तीन वर्षों में ये सभी युवा कम अवधि के लिए वैध वीजा पर पाकिस्तान गए थे। कश्मीर के युवाओं का इतनी बड़ी संख्या में गायब होने के बाद भारतीय सुरक्षा एजेंसियां सर्तक हो गई हैं। इस बात का आशंका जताई जा रही है कि, ये भी युवक आतंकी बन गए हैं या फिर पाकिस्तान में रहकर आतंकी गतिविधियों में शामिल हो रहे हैं। या फिर ये स्लीपर सेल की भूमिका में काम कर रहे हों।

इसे भी पढ़ें: महंगा पेट्रोल बेच रही सरकार कम करेगी बीयर के दाम, राजस्व बढ़ाने के लिए अधिकारियों ने तैयार की नई नीति

भारतीय सुरक्षा एजेंसियां इसलिए अलर्ट हो गई हैं क्योंकि पिछले वर्ष उत्तर कश्मीर के हंदवाड़ा में सीमा पर लगने वाले जंगलों में अप्रैल माह में पांच आतंकी ढेर हुए थे। इन पांच आतंकियों में से एक आतंकी स्थानीय निवासी था। जो वर्ष 2018 से लापता था। जो वैध वीजा पर पाकिस्तान गया तो लेकिन लौटा नहीं था। सेना के अधिकारियों का कहना है कि, वर्ष 2020 में अप्रैल माह में साउथ कश्मीर में अनंतनाग और कुलगाम जिलों के युवाओं को भारत में घुसपैठ करते हुए देखा गया था।

ये युवा पाकिस्तान वैध वीजा पर गए थे। उसके बाद कभी वापस लौटे ही नहीं। अधिकारियों को लगता है कि, ये युवक अब सीमा पार आतंकियों घुसपैठ में मदद कर रहे हैं। भारतीय एजेंसियां अब दिल्ली हवाई अड्डे और बाघा बॉर्डर पर आव्रजन (Immigration) अधिकारी से पिछले तीन वर्ष से अधिक समय में जो युवक पाकिस्तान वैध वीजा पर गए हैं। उनकी जानकारी जुटाई रही है।

अधिकारियों का कहना है कि, बीते कुछ वर्षों में जो कश्मीरी युवक पाकिस्तान गए थे। उनसे पूछताछ हुई है और सुरक्षा एजेंसियों ने युवकों के वापस लौटने पर उनकी गतिविधियों पर भी नज़र रखी है। उन्होंने इस दौरान युवकों से पाकिस्तान जाने का सही वजह जानने पर जोर दिया। कश्मीर के जो भी युवक लापता हुए हैं, उनमे से ज्यादातर लोग माध्यम वर्ग के हैं। आशंका है कि, ये युवक घाटी में हथियार सप्लाई के काम से जुड़े हों।

इसे भी पढ़ें: मकान से आ रही रहस्‍यमयी आवाजों ने फैलाई दहशत, जांच में जुटी पुलिस की टीम भी हुई हैरान