2020: 46 कमांडर सहित मारे गए 225 आतंकी, पाकिस्तान ने तोड़ा 5100 से अधिक बार सीजफायर

154

नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर में वर्ष 2020 में बड़ी संख्या में आतंकियों का सफाया हुआ है। राज्य के DGP दिलबाग सिंह का कहना है कि, इस वक़्त राज्य में सिर्फ तीन आतंकी ही एक्टिव हैं, जो किश्तवाड़ में है। वहीं कुछ स्लीपर सेल्स से भी जुड़े लोग हैं, इन सुरक्षा एजेंसियों को नज़र है। DGP ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि, पाकिस्तान ही नए और पुराने सभी आतंकी संगठनों की मां है। उन्होंने कहा कि, वर्ष 2020 काफी अच्छा रहा है, सबसे बड़ी उपलब्धि रहे राज्य में हुए DDC चुनाव। पाकिस्तान नहीं चाहता था कि, राज्य में चुनाव शांतिपूर्ण ढंग से पुरे हों। कई बार आतंकियों ने चुनाव में खलल डालने की भी कोशिश तो की, लेकिन वो ऐसा करने में कामयाब नही सके।

इसे भी पढ़ें: दिल्ली सरकार की मदद से सिंघु बॉर्डर पर किसानों के लिए लगाया गया फ्री वाईफाई हॉटस्पॉट

राज्य में आतंकियों के खिलाफ हुए ऑपरेशन की जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि, कुल 100 ऑपरेशन हुए हैं। इनमे से 90 तो कश्मीर में हुए हैं। इन ऑपरेशन में 255 आतंकी ढेर हुए हैं, जिसमे 46 टॉप कमांडर भी हैं। आज प्रदेश में सभी आतंकी संगठनों के टॉप कमांडर ढेर हो चुके हैं। वहीं मारे गए आतंकियों के पास से बड़ी संख्या में गोला और बारूद मिला है।

आतंकियों से मुठभेड़ के दौरान पुलिस के 16 जवान और अर्धसैनिक बलों के 44 जवान भी वीरगति को प्राप्त हुए हैं। वहीं आतंकी हमलों में 38 नागरिकों की भी मौत हुई है। डीजीपी ने बताया कि, पाकिस्तान की तरफ से सीजफायर तोड़ने के मामले बढ़े हैं। उसकी कोशिश होती है कि, LOC पर गोलीबारी के आतंकियों की घुसपैठ कराई जा सके। इस वर्ष घुसपैठ में भी कमी दर्ज की गई है। वहीं पाकिस्तान की तरफ से जरूर ड्रोन की मदद से हथियार, रुपए और नक़्शे भेजे गए हैं।

इसे भी पढ़ें: कोरोना काल में छप्पर फाड़ कमाई के बाद एशिया का सबसे अमीर कारोबारी बना ये शख्स, मुकेश अंबानी को छोड़ा पीछे