पीएम मोदी से ब्राजील के राष्ट्रपति ने लगाई मदद की गुहार, लिखा पत्र- जल्द भेज दीजिये कोरोना वैक्सीन

43

नई दिल्ली। वो दिन दूर नहीं जब अगले कुछ दिनों में भारत कोरोना मुक्त होगा। देश में बनी दो स्वदेशी कोरोना वैक्सीन को आपात इस्तेमाल की मंजूरी तीन जनवरी को मिल चुकी है। जल्द ही अगले कुछ दिनों में देश टिकाकरण भी शुरू हो जायेगा। खास बात ये है कि, भारत में बनी इन वैक्सीन पर दुनिया भरोसा भी कर रही है। यही वजह है कि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोलसोनारो ने पत्र लिखकर जितनी जल्दी हो सके उतनी जल्द कोरोना वैक्सीन भेजने का अनुरोध किया है। कोरोना संक्रमण से दुनिया में सबसे अधिक प्रभवित देशों की सूची में ब्राजील इस वक़्त दूसरे नंबर पर है। ब्राजील में अब तक टिकाकारण शुरू नहीं हो पाया है, जिसकी वजह से उस पर दबाव बढ़ता जा रहा है।

इसे भी पढ़ें: अब मकान मालिक मनमाने तरीके से नहीं बढ़ा सकेंगे किराया, योगी कैबिनेट ने अध्यादेश को दी मंजूरी

ब्राजील के राष्ट्रपति ने पीएम मोदी को लिखे पत्र में लिखा है कि, मैं भारतीय वैक्सीनेशन प्रोग्राम पर बिना कोई आंच आए हमारे राष्ट्रीय वैक्सीनेशन प्रोग्राम को तुरंत परिचालन के लिए बीस लाख वैक्सीन खुराक की सप्लाई करने की अपील करता हूं। एक दिन पहले ही ब्राजील सरकार द्वारा चलाई जा रही फियोक्रूज बॉयोमेडिकल सेंटर ने कहा था कि, एस्ट्राजेनेका की लाखों डोज इस माह के अंत पहले ब्राजील में नहीं पहुंच पाएंगी। इसके बाद ही राष्ट्रपति बोलसोनारो ने पीएम मोदी पत्र लिखकर गुहार लगाई है।

फियोक्रूज बॉयोमेडिकल सेंटर कहना है कि, वो वैक्सीन की खुराक मंगवाने के लिए लगातार बातचीत कर रहा है। इसमें से बीस लाख खुराक जो भारत से मंगवानी हैं वो प्रमुख हैं। एस्ट्राजेनेका वैक्सीन को इमरजेंसी अप्रूवल देने के लिए भी फियोक्रूज ने भारत से अपील की थी। इस अप्रूवल के बाद ब्राजील को वैक्सीन मिलने का रास्ता साफ़ होता इसलिए उसने भारत सरकार से अपील की थी।

इसे भी पढ़ें: पूर्व सैनिक ने देश के साथ की गद्दारी, लालच में आकर दुश्मन देश को बेची खुफिया जानकारी