नशे में धुत युवकों ने दिव्यांग को मारी टक्कर, मदद करने आए स्थानीय लोगों को भी पीटा

172

गाजियाबाद में कविनगर जैन मंदिर के सामने एक तेज रफ़्तार कार ने एक दिव्यांग जोरदार टक्कर मार दी। टक्कर इतनी तेज थी कि, रिक्शे पर बैठा दिव्यांग करीब 10 से 12 फीट दूर जा गिरा। वहीं टक्कर के बाद चालक भी कार से अपना नियंत्रण खो बैठा और कार भी पलट गई। जो करीब 50 मीटर तक पलटी खाती गई। इस बीच जब स्थानीय लोगों ने उनकी मदद करने की कोशिश तो कार सवार रईसजादों के दोस्तों ने उन पर ही हमला कर दिया।

इसे भी पढ़ें: खुलासा : पहले ही रची जा चुकी थी 26 जनवरी को हुए उपद्रव की साजिश, कुछ ख़ास ग्रुपों को मिले थे ये निर्देश

दुर्घटना के तुरंत बाद पुलिस और एंबुलेंस को चश्मदीदों ने मदद के लिए फ़ोन तो किया लेकिन करीब 25 मिनट बाद डायल-112 की गाड़ी मौके पर पहुंची। वहीं क्षेत्रीय थाने की पुलिस तो लगभग 40 मिनट के बाद घटनास्थल पहुंची। चश्मदीदों का कहना है कि, जिस कार से दुर्घटना हुई है, उसमे कुछ गिलास और खाली बोलते मिली हैं। खबरों के अनुसार, ये युवक नशे में थे। स्थानीय लोगों के अनुसार, शुक्रवार रात करीब 10 बजे एक लग्जरी कार ने तीन युवक नासिरपुर फाटक की तरफ से नए रेलवे स्टेशन की ओर जा रहे थे। उनकी कार की रफ़्तार काफी तेज थी।

इस दौरान जैन मंदिर के तरफ से आ रहे दिव्यांग नीरज कुमार को पीछे से इन रईसजादों ने जोरदार टक्कर मार दी। ये हादसा इतना भयंकर था कि, नीरज का रिक्शा 10 से 12 फ़ीट दूर रेलवे लाइन की बाउंड्री पर जा टकराया। चश्मदीदों के मुताबिक, जब कार ने नीरज को टक्कर मारी थी तो उस वक़्त कार की गति 100 किमी प्रतिघंटा से भी ज्यादा थी। रिक्शे से टक्कर के बाद कार चालक कार से अपना नियंत्रण खो बैठा और सीधे जाकर वो डिवाइडर टकरा गई। इस दौरान करीब 50 मीटर तक पलटती हुई चली गई।

जैसे ही कार को पलटते हुए स्थानीय लोगों ने उसे देखा तो वो मदद के लिए आगे बढ़े और उन्होंने नीरज और कार सवार युवकों को बाहर निकाला। इस दौरान कार सवार युवकों ने अपने दोस्तों को मदद के लिए फ़ोन किया। जो तुरंत ही मौके पर पहुंच गए। इस दौरान उन युवकों से जब स्थानीय लोगों ने सवाल किया कि, कौन नीरज का इलाज करवाएगा तो युवकों ने मारपीट शुरू कर दी।

इसे भी पढ़ें: बस्ती: अधिकारियों ने लगवाया कोरोना वैक्सीन का पहला टीका, कहा- वैक्सीन पूरी तरह सुरक्षित