बेखौफ अपराधी: जयपुर में पत्रकार की सरेआम पीट-पीटकर हत्या, कांग्रेस ने साधी चुप्पी

44

नई दिल्ली। जयपुर में पत्रकार की हत्या के बाद कांग्रेस की गहलोत सरकार में राज्य की कानून व्यवस्था पर सवाल उठ रहे हैं। राजधानी की सड़कों पर अपराधी इतने बेख़ौफ़ हो चुके हैं कि, खुले आम सड़क पर एक पत्रकार को जमकर लोहे की छड़ से पीटते रहे। इसके बाद पत्रकार को हमलावर बीच रोड पर छोड़कर चले गए। पत्रकार का नाम अभिषेक सोनी बताया जा रहा है, जो इस जानलेवा हमले में बुरी तरह से घायल हो गए थे। ये घटना 8 दिसंबर की रात करीब 11 से 30 के बीच की है। पत्रकार ने ज़िंदा रहने के लिए एक लंबी जंग लड़ी लेकिन वो इस जंग को जीत नहीं पाए और बुधवार को उनकी मौत हो गई।

इसे भी पढ़ें: योगी ने प्रदेश छोड़ने तो शिवराज ने जमीन में गाड़ देने की दी चेतावनी

राजस्थान की राजधानी में जिस तरह से सरेआम बदमाशों ने एक पत्रकार की हत्या की है, उससे कांग्रेस सरकार सवालों के घेरे में आ गई है। बीजेपी ने भी गहलोत सरकार के राज में राज्य की ख़राब होती कानून व्यवस्था पर सवाल उठाए हैं। बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष डाॅ. सतीश पूनियां का कहना है कि, गहलोत की सरकार में बीते दो वर्षों में राज्य की कानून व्यवस्था धवस्त हो गई है। लोकतंत्र के प्रहरी पत्रकार भी इस सरकार में बिलकुल सुरक्षित नहीं हैं। राज्य की राजधानी में बदमाशों के हमले में पत्रकार अभिषेक सोनी की मौत होना और गिरधारी पालीवाल का घायल होना इस सरकार की संवेदनहीनता की पराकाष्ठा है।

मामले को लेकर पुलिस का कहना है कि, घटना 8 दिसंबर की है। पत्रकार अभिषेक सोनी अपनी महिला मित्र के साथ एक ढाबे पर रुके थे जहां कुछ लोगों ने महिला को परेशान करना शुरू कर दिया था। अभिषेक ने जब इसका विरोध किया तो आरोपियों के साथ उनकी झड़प हो गयी। आरोपियों का शिकार युवती भी हुई थी, जिसे प्राथमिक उपचार के बाद हॉस्पिटल से छुट्टी दे दी गयी थी। पुलिस का कहना है कि, एक आरोपी शंकर चौधरी को गिरफ्तार किया जा चुका है। वहीं दो अन्य आरोपी कानाराम जाट और सुरेंद्र जाट की तलाश जारी है।

इसे भी पढ़ें: तिहाड़ जेल से हत्या के आरोपी का हुआ अपहरण, सुरक्षा व्यवस्था पर उठ रहे सवाल