पूर्व सैनिक ने देश के साथ की गद्दारी, लालच में आकर दुश्मन देश को बेची खुफिया जानकारी

944

लखनऊ। दुश्मन देश के लिए जासूसी करने के मामले में उत्तर प्रदेश के हापुड़ जिले के गांव बिहुनी के रहने वाले पूर्व सैनिक सौरभ शर्मा को एटीएस ने गिरफ्तार किया है। सौरभ पर आरोप है कि, उसके खातों में पाकिस्तानी हैंडलर के द्वारा पैसा भेजा गया है क्योंकि वो खुफिया जानकारी दुश्मन देश के साथ साझा करता था। मई 2020 में सौरभ ने बीमारी की वजह बताकर नौकरी छोड़ दी थी। परिजनों का कहना है कि, कुछ लोग उससे पूछताछ करने के लिए मेरठ ले गए थे, जहां उसे गिरफ्तार कर लिया गया। जबकि ATS उसकी गिरफ़्तारी लखनऊ से दिखा रही है और उसके खिलाफ लखनऊ के गोमती नगर पुलिस थाने में IPC की धारा 120B, 123, आधिकारिक गोपनीयता अधिनियम (OSA) की धारा 3, 4, 5 और 9 और गैरकानूनी गतिविधि रोकथाम अधिनियम (UAPA) की धारा 13 के तहत एफआईआर दर्ज की गई है।

इसे भी पढ़ें: किसान आंदोलन में बांटी गई भिंडरावाला की महिमामंडन करने वाली किताब, आंदोलन के बहाने अपनी जड़ें मजबूत करने में लगा खालिस्तान

पूर्व सैनिक सौरभ शर्मा के पिता की मौत करीब 20 वर्ष पहले हो गई थी, जिसके बाद मां मधु शर्मा ने अपने बेटे को सेना में भर्ती कराने के लिए अपनी जमीन बेच दी। मां का सपना था कि, बेटे का भविष्य बन जाये उसकी पढ़ाई बंद न हो। सौरभ के दो और भाई हैं। उनके दादा दरोगा थे, यही वजह रही कि, उसने सेना में भर्ती होने का सोचा। वर्ष 2013 में सौरभ और उसके परिवार का सपना पूरा भी हुआ और वो भारतीय सेना में भर्ती भी हो गया।

सात वर्ष बाद सौरभ ने नौकरी से वीआरएस ले लिया और वापस घर लौट आया। उसका कहना था कि, उसे किडनी की बीमारी है। इस बात पर गांव में यकीन नहीं हो रहा है कि, सौरभ देश के साथ गद्दारी कर सकता है। गांव के लोग उसका पूरा सम्मान करते थे। सौरभ की इस हरकत के बाद आज पूरा परिवार शर्मसार चुका है। वहीं मां का मानना है कि, उसके बेटे ने कुछ भी नहीं किया है, वो निर्दोष है। ATS को सौरभ ने बताया है कि, उसने ख़ुफ़िया जानकारियां पाकिस्तान में बैठे लोगों के साथ शेयर की। हैं वो ऐसा पैसों के लालच की वजह से कर रहा था। वो के महिला को जानकरी देता था।

इसे भी पढ़ें: अब मकान मालिक मनमाने तरीके से नहीं बढ़ा सकेंगे किराया, योगी कैबिनेट ने अध्यादेश को दी मंजूरी