ममता सरकार के मंत्री ने नेशनल हाईवे को किया बंद, वैक्सीन ले जा रहे वाहन को किया गया डायवर्ट

88

नई दिल्ली। देश में 16 जनवरी से कोरोना वैक्सीन का टीकाकरण शुरू होने जा रहा है, जिसे देखते हुए अलग-अलग शहरों में कोरोना वैक्सीन पहुंचाने का काम काफी तेजी से चल रहा है। इस ही क्रम में जब कोरोना वैक्सीन जब पंश्चिम बंगाल सड़क मार्ग से पहुंची तो राष्ट्रीय राजमार्ग बंद पड़ा था। इसकी वजह से वैक्सीन ले जा रहे वाहन को रोकना पड़ गया। कृषि कानूनों के खिलाफ हो रहे विरोध की वजह से राष्ट्रीय राजमार्ग बंद किया गया था। ममता सरकार में कैबिनेट में राज्यमंत्री सिद्दीकुल्ला चौधरी की इस बंद की अगुवाई कर रहे थे। वैक्सीन ले जा रहा वाहन बर्धमान जा रहा था, जिसे प्रदर्शन की वजह से रोक दिया गया।

इसे भी पढ़ें: किसान आंदोलन: हेममालिनी के ट्वीट पर कुमार विश्वास ने कसा तंज, अब यूजर्स दे रहे ऐसी प्रतिक्रिया

वैक्सीन ले जाने वाली इंसुलेटेड वैन को बर्धमान के पुलिस अधीक्षक भास्कर मुखोपाध्याय ने कोलकाता और नई दिल्ली को जोड़ने वाले नेशनल हाई-वे के बंद होने के कारण एक गांव से 5 किलोमीटर की दूरी पर डायवर्ट किया गया था। कोलकाता में प्रदेश सरकार के वैक्सीन स्टोर से निकलने के बाद पूरवा बर्धमान जिला स्वास्थ्य कार्यालय में 31,500 वैक्सीन का डोज दिया गया है। इसके बाद वैक्सीन को बांकुड़ा और पुरुलिया में पहुंचाया जा रहा था लेकिन उससे पहले ही उसे रोक दिया गया।

भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय ने इस मामले को लेकर ट्वीट करते हुए कहा कि मंत्री सिद्दीकुल्ला चौधरी ने अपने राजनीतिक पाखंड के कारण आज कोरोनो वायरस वैक्सीन को अवरुद्ध किया गया है, जिसकी वजह से, वैक्सीन ले जाने वाले वाहन को अन्य रास्ते से ले जाना पड़ा है। अगर किसी दुर्घटना या किसी अन्य वजह से वैक्सीन नष्ट हो जाती तो उसका कौन जिम्मेदार होगा?

मामले को लेकर मंत्री सिद्दीकुल्ला चौधरी का कहना है कि, उन्हें वैक्सीन की वैन आने की कोई जानकारी नहीं थी। जब मुझे जानकारी मिली तो मैंने सड़क खाली करवा दी थी, लेकिन उससे पहले ही वैक्सीन ला रहे वाहन को डायवर्ट कर दिया गया था।

इसे भी पढ़ें: डोरमैट से भी बदल सकती है आपकी जिंदगी, जानें उसे घर में रखने का सही तरीका