चीन ने भारत के खिलाफ हिंद महासागर में रची बड़ी साजिश, तैनात किए जासूस

44

नई दिल्ली। चीन का अपने किसी भी पड़ोसी देश से संबंध ठीक नहीं है। दूसरे देशों की जमीन पर नज़र टिका कर रखने वाले चीन का कई देशों के साथ तनाव चल रहा है। भारत के साथ पूर्वी लद्दाख में पिछले आठ माह से युद्ध जैसे हालात बने हुए है। शुरू में जब चीन ने भारत पर दबाव बनाने कोशिश की तो भारत द्वारा दी गयी प्रतिक्रिया पर चीन को बैकफुट पर जाना पड़ा। जब जमीन पर चीन भारत के खिलाफ किसी साजिश में सफल नहीं हो पाया तो उसने अब पानी के अंदर साजिश रची है। हिन्द महासागर में चीन ने अंडर वॉटर ड्रोन्स का बेड़ा तैनात किया है। एक ड्रोन महीनों तक पानी अंदर रहकर जासूसी कर सकता है।

इसे भी पढ़ें: कोरोना काल में छप्पर फाड़ कमाई के बाद एशिया का सबसे अमीर कारोबारी बना ये शख्स, मुकेश अंबानी को छोड़ा पीछे

जो नौसेना से जुड़ी जानकारियां चीन को पहुंचता है। इस वॉटर ड्रोन का नाम सी विंग (हेयी) ग्लाइडर है। रक्षा विश्लेषक एचई सटन ने फोर्ब्स मैगजीन के लिए लिखे अपने आर्टिकल में लिखा है कि, चीन द्वारा तैनात किये गए अनक्रीडेड अंडरवॉटर व्हीकल (UUV) से फरवरी तक 3,400 से ज्यादा ऑब्सर्वेशन किए थे। सटन ने सरकारी सूत्रों का जिक्र करते हुए बताया है कि, ये ग्लाइडर्स उस ही तरह है, जिसे अमेरिका की नेवई ने तैनात किया था। लेकिन वर्ष 2016 चीन द्वारा उसे सीज कर लिया गया था।

सटन का कहना है कि, यह बेहद चौकाने वाली बात है कि, अब चीन इस प्रकार के UUV एन मास्क को हिंद महासागर में तैनात कर रहा है। चीन ने इससे पहले आर्कटिक में एक आइस ब्रेकर में सी विंग को तैनात किया था। बीते वर्ष दिसंबर माह में आई रिपोर्ट के अनुसार चीन ने अपने हिंद महासागर के मिशन में 14 UUV एन मास्क तैनात किये हैं, लेकिन इसमें से यूज़ सिर्फ 12 ही हो रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: 2020: 46 कमांडर सहित मारे गए 225 आतंकी, पाकिस्तान ने तोड़ा 5100 से अधिक बार सीजफायर