Budget 2021: इन करदाताओं को अब नहीं भरना पड़ेगा इनकम टैक्स रिटर्न

198

नई दिल्ली। बजट 2021 वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण संसद में पेश कर चुकी हैं। इस बजट में आम टैक्सपेयर (करदाता) को राहत नहीं मिली है, टैक्स स्लैब में किसी तरह का कोई बदलाव नहीं किया गया है। वहीं 75 वर्ष से अधिक आयु के वरिष्ठ नागरिकों को जरूर सरकार ने बड़ी राहत दी है। अब उन्हें इनकम टैक्स भरने की जरूरत नहीं होगी। किसानों की आय को दोगुना करने का केंद्र सरकार रखा है।

इसे भी पढ़ें: Budget 2021: भाषण के दौरान वित्त मंत्री ने रेलवे को दी 1.10 लाख करोड़ की सौगात

भारत ने बढ़ता हुआ प्रदूषण चिंता का विषय बन चुका है, पिछले कुछ माह में वायु प्रदूषण का ग्राफ बढ़ा ही है। इसे देखते हुए सरकार ने स्वच्छ हवा के अपना पिटारा खोल दिया है। शहरी और ग्रामीण स्वच्छता के लिए बजट में कई प्रावधान भी हुए हैं। सरकार जल्द ही वॉलेंट्री स्क्रैप पॉलिसी भी लॉन्च करने की तैयारी कर चुकी है। एफडीआई को बीमा क्षेत्र में 74 प्रतिशत तक मंजूरी मिल गई है।

एक पोर्टल अब प्रवासी मजदूरों के लिए भी बनाया जाएगा। इस पोर्टल में उनसे ही सम्बंधित सभी जानकारियां होंगी। बजट के दौरान वित्त मंत्री बताया कि, कई सरकारी कंपनियों में विनिवेश किया जाएगा। सेंट्र्रल यूनिवर्सिटी लेह में बनाई जायेगी। अनुसूचित जाति के 4 करोड़ विद्यार्थियों को 35,000 करोड़ रुपए दिए जाएंगे। इस वर्ष राजकोषीय घाटा करीब 6.8 प्रतिशत तक रहने का अनुमान बजट में लगाया गया है।

सोना चांदी के दाम जरूर अब कुछ कम हो सकते हैं क्योंकि सरकार ने कस्टम ड्यूटी को घटाया है। वहीं मोबाइल और उसके चार्जर जरूर महंगे होंगे। बजट 2021 में वित्त मंत्री ने ‘पीएम आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत’ योजना की घोषणा की है। निर्मला निर्मला सीतारमण ने इस योजना के लिए 64,180 करोड़ रुपए का प्रावधान किया है।

इस राशि को आगामी छह वर्षों में खर्च करने की योजना है। वहीं सरकार का फोकस अब प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों को मजबूत करने पर होगा। भारत में सरकार की तरफ से विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के स्थानीय मिशन को लॉन्च किया जाएगा।

इसे भी पढ़ें: Budget 2021: कोरोना संकट ने खोली सरकार की आंखे, हेल्थ सेक्टर पर किया गया फोकस, 64 हज़ार करोड़ की योजना का किया ऐलान