बीजापुर मुठभेड़ : नक्सलियों ने जारी की अगवा जवान की तस्वीर, रिहा करने की रखी ये शर्त

4283

नई दिल्ली। छत्तीसगढ़ के बीजापुर में नक्सलियों और सुरक्षाबलों के बीच हुई मुठभेड़ के बाद अगवा किये गए जवान की तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। ये तस्वीर खुद नक्सलियों ने शेयर की है। सूत्रों के अनुसार सीआरपीएफ जवान नक्सलियों के कब्जे में हैं, जिसे वापस लाने के लिए सुरक्षाबल कार्रवाई कर रहे हैं। सीआरपीएफ के अगवा जवान का नाम राकेश्वर सिंह मन्हास है। जो जम्मू के रहने वाले हैं। जवान की तस्वीर सोशल मीडिया पर जारी होने से पहले, बीजापुर के पत्रकार ने दावा किया है कि दो बार नक्सलियों ने उसे फ़ोन किया और बताया कि सीआरपीएफ का जवान घायल है, जिसे दो दिनों में रिहा कर दिया जायेगा।

इसे भी पढ़ें:- पंजाब में व्हील चेयर का सहारा ले रहा मुख्तार बांदा पहुंचते ही बैग उठाकर लगा चलने

गौरतलब है कि बीजापुर में मुठभेड़ के बाद से अगवा हुए कोबरा कमांडो की तलाश लगातार जारी है। वहीं एक पत्र नक्सलियों ने जारी किया है, जिसमे उन्होंने लिखा है कि वो सरकार के साथ बातचीत के तैयार हैं। पत्रकार ने दावा किया है कि उसे नक्सलियों ने दो बार फ़ोन किया और बताया कि उन्होंने जवान को पकड़कर रखा हुआ है। जवान घायल है, उसे गोली लगी है, जिसका इलाज जारी है और उसे दो दिन में रिहा कर दिया जाएगा। जवान की कुछ और तस्वीरें और वीडियो जल्द ही नक्सली जारी करेंगे।

राकेश्वर सिंह के अगवा होने के जानकारी जैसे ही उनके परिवार को लगी। सभी स्तब्ध रह गए, लगातार उनके घर पर जानने वाले लोग और अधिकारी, नेता पहुँच रहे हैं। परिवार के सभी सदस्यों का रो-रोकर बुरा हाल है। सभी चाहते हैं कि बस जल्द से जल्द राकेश्वर घर वापस आ जाएं। राकेश्वर सिंह को छुड़ाने के लिए परिजनों ने बुधवार को सड़क जाम कर प्रदर्शन किया है। उनकी सरकार से मांग है कि जिस तरह अभिनन्दन को पाकिस्तान से छुड़ाया गया था उसी तरह से कोबरा कमांडो राकेश्वर सिंह मन्हास को नक्सलियों से छुड़ाया जाये।

इसे भी पढ़ें:- कोरोना के नए वेरिएंट को पहचान नहीं पाए भारतीय वैज्ञानिक, अब सता रहा है इस बात डर