पूर्व पाकिस्तानी राजनयिक ने कबूला सच, बालाकोट एयरस्ट्राइक में मारे गए थे 300 आतंकी

230

नई दिल्ली। भारत द्वारा बालाकोट में की गई एयर स्ट्राइक को पाकिस्तान हमेशा से बोलता रहा है कि, इस स्ट्राइक में कोई मारा नहीं गया था। वहीं देश के भी कुछ नेताओं ने स्ट्राइक के सबूत मांग लिए थे। उन सभी को अब पाकिस्तान के पूर्व राजनयिक ने जवाब देते हुए कबूल किया है कि, भारतीय वायु सेना ने बालाकोट एयर स्ट्राइक में 300 आतंकी मार गिराए थे। गौरतलब है कि, 26 फ़रवरी 2019 में बालाकोट एयरस्ट्राइक की गई थी। इस स्ट्राइक में जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों पर भारतीय वायुसेना द्वारा बमबारी की गयी थी। एक उर्दू टीवी चैनल पर डिबेट के दौरान पूर्व पाकिस्तानी राजनयिक आगा हिलाली सच्चाई दुनिया के सामने रखते हुए बताया कि, भारत ने अंतरराष्ट्रीय सीमा को पार करते हुए युद्ध जैसी कार्रवाई की थी।

इसे भी पढ़ें: आईआरसीटीसी की नई पहल, लक्जरी ट्रेन से करें सफर, वापसी में फ्री विमान यात्रा की सुविधा

इस हमले में 300 लोगों के मारे जाने की सूचना है, लेकिन हमारा लक्ष्य उनसे अलग था क्योंकि हमने तो उनके हाई कमांड को टारगेट किया। हमारा ये कदम लीगल था क्योंकि वे सेना के आदमी थे। इस बात को हमने माना था कि, उस स्ट्राइक में कोई भी हताहत नहीं हुआ। इसके बाद हमने ये भी कहा था कि, अब जो भी वो करेंगे उसका अब हम सिर्फ जवाब देंगे। गौरतलब है कि, कश्मीर के पुलवामा जिले में 14 फरवरी के दिन CRPF के काफिले पर बड़ा आतंकी हमला हुआ था। इस हमले में 40 जवान शहीद हुए थे, जिसकी जिम्मेदारी आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली थी।

इस आतंकी संगठन पाकिस्तान में बैठकर भारत के खिलाफ बड़ी साजिश रची थी। इसके जवाब में भारतीय वायुसेना ने 26 फरवरी को पाकिस्तान के बालाकोट में घुसकर आतंकी कैंपो को निशाना बनाया था। पाकिस्तान ने दूसरे ही दिन इस बात को स्वीकार तो किया था लेकिन इस बात को मानने के लिए बिलकुल भी तैयार नहीं था कि, इस स्ट्राइक में कोई भी मारा गया है। साथ ही उसका ये भी कहना था कि, जहां भारत ने हमला किया, वहां कोई आतंकी कैंप नहीं था।

इसे भी पढ़ें: नियमों के विपरीत प्रमोशन पाने वाले इन अधिकारियों पर चला योगी सरकार का हंटर, बनाया चौकीदार-चपरासी