कैप्टन अंकित गुप्ता की तलाश में जुटीं 12 विशेष टीमें, परिवार को उम्मीद जल्द मिल जाएगा बेटा

678

नई दिल्ली। थल सेना की स्पेशल फोर्स 10 पैरा कमांडो कैप्टन अंकित गुप्ता चार दिन पहले जोधपुर के तख्तसागर में ट्रेनिंग के दौरान लापता हो गए थे। उनकी तलाश में 12 टीमें लगी हुई हैं लेकिन अब उनकी कोई खबर नहीं मिली है। कैप्टन अंकित गुप्ता को तलाशने के लिए नेवी के मार्कोस कमांडो सहित 12 विशेषज्ञों की 12 टीमों ने रविवार से अभियान चलाया हुआ है लेकिन पूरे दिन चले सर्च ऑपरेशन के बाद भी टीमों के हाथ खाली रहे।

इसे भी पढ़ें: भारत से फिर भिड़ा नेपाल, कर दिया ऐसा ऐलान, जानें पूरा माजरा

तख्तसागर जलाशय की गहराई करीब 46 फ़ीट है और उसके तल में काफी झाड़ियां भी हैं। पानी के अंदर ही फिशिंग के जाल भी बिछे हुए हैं। कैप्टन अंकित गुप्ता के जीवित होने की संभावना न के बराबर है। वहीं उनके परिवार को उम्मीद है कि, कमांडो की तलाश जारी रखने पर वो मिल जाएंगे। सर्च ऑपरेशन में जुटी टीमों का मानना था कि, तीन दिनों में कैप्टेन अंकित का शरीर ऊपर आ जायेगा, लेकिन ऐसा हुआ नहीं। उन्हें खोजना अब टीमों के लिए बड़ी चुनौती बन चुका है।

रविवार को तो पूरे तख्तसागर एक साथ सर्च सर्च ऑपरेशन गोताखोरों ने चलाया फिर भी कैप्टेन का कोई सुराग नहीं मिला।कैप्टन अंकित की उम्र 28 है और वो गुरुग्राम हरियाणा के रहने वाले हैं। करीब डेढ़ माह पहले 23 नवंबर को ही उनकी शादी हुई थी। उनके बाद ही वो अपनी बची हुई ट्रेनिंग पूरी करने के लिए जोधपुर आ गए थे। उनकी गुमशुदा होने की सूचना पर पूरा परिवार बेहद चिंता में है। परिवार को उम्मीद है कि, अंकित जल्द ही मिल जाएंगे।

गौरतलब है कि, ट्रेनिंग के दौरान 10 पैरा कमांडो के अभियान का नेतृत्व कर रहे कैप्टन अंकित कर रहे थे। उन्हें सबसे पहले हेलिकॉप्टर से अपनी बोट को पानी में फेंकना था, जिसके बाद खुद भी पानी में कूटना और बोट में सवार हो गया दुश्मन पर हमला करना था। सब कुछ ठीक चल रहा था। लेकिन जब अंकित पानी में कूदे तो वो बाहर निकले ही नहीं। चार साथी उनके बोट पर चढ़ गए लेकिन अंकित नहीं पहुंचे। तब से अंकित की तलाश की जा रही है।

इसे भी पढ़ें: सिडनी टेस्ट: आश्विन-विहारी के सामने ढेर हुए ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज, मैच ड्रा