केजीएमयू के 40, बलरामपुर अस्पताल 10 डॉक्टरों को हुआ कोरोना, लखनऊ में बिगड़े हालात

246
CORONA CASE

लखनऊ। कोरोना की दूसरी लहर का कहर उत्तर प्रदेश में भी देखने को मिल रहा है। राजधानी लखनऊ कोरोना का केंद्र बना हुआ है। पिछले 24 घंटे में सूबे में 5,928 मामले सामने आए हैं, जबकि 30 मरीजों की मौत हुई है। लखनऊ में 1,188, प्रयागराज में 915, वाराणसी में 711 कोरोना के नए मामले सामने आए हैं। इस बीच सामने आया है कि राजधानी के किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू) के वीसी डॉ. विपिन पुरी और चिकित्सा अधीक्षक डॉ. हिमांशु संक्रमित हो गए हैं। संस्थान के अन्य चालीस डॉक्टर भी कोरोना संक्रमित हो चुके हैं। इसमें से 20 डॉक्टर सर्जरी विभाग के हैं जबकि 9 डॉक्टर यूरोलॉजी विभाग है।

इसे भी पढ़ें:- खाने की खराब क्वालिटी से नाराज प्रभारी मंत्री ने ठेकेदार को जड़ा थप्पड़

वहीं तीन डॉक्टर क्रिटिकल केयर मेडिसिन विभाग में संक्रमित हुए हैं। ये सभी डॉक्टर कोरोना वैक्सीन की दो डोज ले चुके हैं। जो कोरोना संक्रमित हुए हैं इनमे से ज्यादातर डॉक्टरों ने वैक्सीन की दूसरी डोज 25 मार्च को ले ली थी। वहीं बलरामपुर अस्पताल के करीब 10 डॉक्टर और स्टाफ की कोरोना रिपोर्ट भी पॉजिटिव आ गई है। उत्तर प्रदेश में अब तक कोरोना के 6,39,928 लाख मामले सामने आ चुके हैं। सूबे में संक्रमण के 27,509 मामले संक्रिय हैं। जबकि 8,924 मरीजों की अब तक मौत हो चुकी है। लखनऊ में लगातार कोरोना के मामलों में होली के बाद उछाल देखने को मिल रहा है। अस्पतालों में अचानक कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़ने लगी है। शहर में सरकारी अस्पतालों में बेड लगभग फुल हैं।

राजधानी में लगातार बढ़ते हुए मामलों को देखते हुए प्रशासन को अब तक सख्त और कड़े फैसले ले लेने चाहिए थे लेकिन अब तक कोई बड़ा कदम उठाया नहीं गया है। बाजारों में भीड़ जमकर हो रही है। वहीं लोग मास्क लगाने शर्म महसूस कर रहे हैं। यही वजह है कि सड़कों पर जितनी भीड़ बढ़ रही है उस रफ्तार से ही कोरोना मरीज अस्पतालों में भी बढ़ रहे हैं। पिछले 24 घंटे में कोरोना 1,15,312 मामले बढ़े हैं जबकि 630 संक्रमितों की मौत हुई है। देश में कोरोना के एक्टिव केसों की संख्या 8,38,669 हो चुकी है।

इसे भी पढ़ें:- मुलायम सिंह यादव की भतीजी को बीजेपी ने दिया जिला पंचायत का टिकट