मुश्किलों में अभिनेता: बीएमसी ने बॉम्बे हाईकोर्ट में सोनू सूद को बताया अपराधी, जानें क्या है मामला

127

मुंबई। बॉलीवुड अभिनेता और आम आदमी के सुपरहीरो सोनू सूद को लेकर बीएमसी ने अपना सख्त रुख अपनाया हुआ है। बॉम्बे उच्च न्यालालय में बीएमसी ने एक हलफनामा दिया है, जिसमे अभिनेता सोनू सूद को उन्होंने आदतन अपराधी बताया है। पहले दो बार हुई तोड़फोड़ की कार्रवाई के बाद भी जुहू की रिहायशी इमारत में अवैध निर्माण कराया है। अपने हलफनामे में बीएमसी ने कहा है कि, सोनू सूद आदतन एक अपराधी है, जो गैरकानूनी ढंग से रुपए कामना चाहते हैं। सोनू ने लाइसेंस विभाग की अनुमति के बिना ही बीएमसी द्वारा ध्वस्त किए गए हिस्से का दोबारा अवैध निर्माण कराया, जिससे इस इमारत को होटल के रूप में इस्तेमाल किया जा सके।

इसे भी पढ़ें: उद्धव सरकार के इस बड़े मंत्री पर लगा दुष्कर्म का आरोप

बीएमसी के साथ चल रहे विवाद के बीच सोनू सूद एनसीपी के सुप्रीमों शरद पवार से मंगलवार रात को मिले हैं। ये मुलाकात करीब तीस मिनट तक चली है। सूत्रों के मुताबिक सोनू और पवार के बीच बीएमसी की कार्रवाई को लेकर भी बातचीत हुई है। इस दौरान सोनू ने कहा है कि, उन्होंने कोई अवैध निर्माण नहीं कराया है। उन्हें कुछ लोग बदनाम करने के लिए ऐसा कर रहे हैं। सोनू को बीएमसी ने पिछले वर्ष अक्टूबर माह में भी नोटिस जारी किया था, जिसे अभिनेता ने दिसंबर माह में दीवानी कोर्ट में चुनौती दी थी।

कोर्ट ने इस याचिका को खरिज कर दिया था। इसके बाद सोनू ने बॉम्बे उच्च न्यायालय का रुख किया। बीएमसी को हाई कोर्ट ने इस मामले में हलफनामा दाखिल करने के लिए कहा था। जुहू पुलिस स्टेशन सोनू सूद के खिलाफ बीएमसी ने शिकायत दर्ज कराई है, जिसमे कहा गया है कि, सोनू ने मुंबई में एबी नायर रोड पर स्थित शक्ति सागर बिल्डिंग को बिना किसी अनुमति के होटल बना दिया है। इस छह मंजिला रिहायशी बिल्डिंग का कारोबारी इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है। बीएमसी का का ये भी कहना है कि, अभिनेता को नोटिस देने के बाद भी बिल्डिंग में लगातार अवैध निर्माण हो रहा है।

इसे भी पढ़ें: दलित युवक की हत्या के बाद मऊ में हुआ बवाल, उग्र भीड़ ने फूंका पुलिस वाहन