लता, सचिन, अक्षय के ट्वीट्स की होगी जांच, उद्धव सरकार ने इंटेलिजेंस विभाग को दिए आदेश

15
Sachin Tendulkar

मुंबई। कृषि कानूनों के विरोध में हो रहे किसान आंदोलन के समर्थन पॉप सिंगर रिहाना के ट्वीट के बाद फिल्म इंडस्ट्री और स्पोर्ट्स से जुड़ी कई बड़ी हस्तियों ने ट्ववीट किया था। अब इस मामले में महाराष्ट्र की उद्धव सरकार ने उन मशहूर हस्तियों के ट्वीट करने को लेकर जांच के आदेश दे दिए हैं। किसान आंदोलन के समर्थन में जब विदेशी हस्तियां ट्वीट करने लगीं तो इस पर विदेश मंत्रालय द्वारा प्रतिक्रिया दी गई। इसके बाद ही बॉलीवुड अभिनेता अजय देवगन, अक्षय कुमार, क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर और लता मंगेशकर ने ट्वीट किया था।

इन सभी ने अपने ट्वीट के साथ हैश टैग India Together और India Against Propaganda लगाए थे। ये हैश टैग दिन भर नंबर एक और दो पर ट्रेंड करते रहे। आम लोगों ने भी इस हैश टैग के साथ लाखों ट्वीट किये। सचिन तेंदुलकर और लता मंगेशकर भारत रत्न से सम्मानित हैं। ट्विटर पर किये गए इन ट्वीट के बाद देश में राजनीति शुरू हो गई है। कांग्रेस का कहना है कि, इन सभी ट्वीट्स की जांच होनी चाहिए। ये सभी ट्वीट्स के एक ही पैटर्न थे। इसे भी पढ़ें:- चेन्नई टेस्ट: आश्विन की फिरकी में फंसी इंग्लैंड की टीम, इशांत ने टेस्ट क्रिकेट में हासिल किया ये मुकाम

कांग्रेस के इस बड़े आरोप के बाद महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने महाराष्ट्र पुलिस का इंटेलिजेंस विभाग को इन ट्वीट्स की जांच का जिम्मा सौंप दिया है कि, वो मशहूर हस्तियों के इन ट्वीट्स की जांच करें। कहीं उन्होंने ये सभी ट्वीट्स बीजेपी के दबाव में तो नहीं किया है। सोशल मीडिया पर हुए इन ट्वीट्स को लेकर एमएनएस प्रमुख राज ठाकरे ने भी केंद्र सरकार पर निशाना साधा था। उन्होंने कहा था कि, सचिन तेंदुलकर और लता मंगेशकर से सरकार को उनके पक्ष में ट्वीट करने के लिए नहीं कहना चाहिए। ठाकरे ने कहा कि, सरकार को अपने अभिनय के लिए अक्षय कुमार जैसे अभिनेताओं का इस्तेमाल सीमित तक सीमित रखना चाहिए था।

गौरतलब है कि, इन ट्वीट्स के बाद सचिन तेंदुलकर को सोशल मीडिया पर कांग्रेस ने ट्रोल किया था। कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने उनके पोस्टर कलिक डाली थी। इसके बाद ही सचिन के समर्थन में भी लोग खुलकर सोशल मीडिया पर आ गए थे, जिन्होंने #IStandWithSachin के साथ लाखों ट्वीट किये थे। इसे भी पढ़ें:-UP में बेखौफ हुए अपराधी, छेड़खानी के आरोपियों को पकड़ने गई पुलिस टीम पर हुआ हमला