मलेरिया बीमारी से जूझते हुए Kriti Kharbanda ने पूरे किए 14 फेरे, घटा 6 किलो वजन

207
कृति

बॉलीवुड(Bollywood) एक्ट्रेस कृति खरबंदा(Kriti Kharbanda) का साल 2020 काफी खराब गया है। ऐसा इसलिए क्योंकि पिछले साल उन्हें मलेरिया हो गया था, जिसके कारण उन्हें काफी बड़ी चुनौतियों का सामना करना पड़ा। डॉक्टर्स ने कृति को रेस्ट करने की सलाह दी थी, लेकिन कमजोरी के दिनों में भी कृति ने हिम्मत नहीं हारी और अपनी फिल्म 14 फेरे लिए शूट करने का फैसला किया। अब कृति  ने अपने उस समय को याद किया है, जब मलेरिया से जूझते हुए शूट कर रही थीं।

इसे भी पढ़ेः- मिसाल: इस महिला सब-इंस्पेक्टर ने कंधे पर ले जाकर किया लावारिस लाश का अंतिम संस्कार

6 किलो घटा वजन

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Kriti Kharbanda (@kriti.kharbanda)

 इंटरव्यू में कृति खरबंदा ने बताया कि, ”मुझे नवंबर में मलेरिया हो गया था और मुझे तीन हफ्ते तक बेड रेस्ट के लिए कहा गया। हालांकि, मैं खुद की वजह से ’14 फेरे’ के शेड्यूल को प्रभावित नहीं होने देना चाहती थी तो मैंने शेड्यूल के हिसाब से शूट करने के लिए आग्रह किया। उस वक्त मुझे मलेरिया हुए सिर्फ 10 दिन ही हुए थे और हमने शूट शुरू कर दिया। हम लखनऊ में थे और दिन में लगभग 18 घंटे शूटिंग चलती थी।” इसके आगे कृति ने बताया कि दुल्हन के रोल में तैयार होने के लिए उन्हें तीन घंटे लग जाते थे। उन्होंने कहा, ”मेरा 6 किलो वजन कम होया और मेरी बॉडी और स्किन पर तनाव साफ दिख रहा था, लेकिन मैं बहुत खुश हूं कि मैंने समय पर शूटिंग शेड्यूल खत्म लिया और यह सब मैं पूरी टीम के सपोर्ट के बिना बिल्कुल भी नहीं कर पाती।”

इस एक्टर ने की मदद

vikrant-masseyबातचीत के दौरान एक्ट्रेस कृति खरबंदा ने कहा कि मेरी बीमारी के बाद शूटिंग के समय उनके को-स्टार विक्रांत मैसी ने उनकी काफी मदद की थी। कृति ने उनकी तारीफ करते हुए कहा कि अगर आप और आपके को-स्टार के बीच की कई सारी चीजें एक जैसी होती, तो काम में तालमेल बैठाने में बहुत मदद मिलती है और चीजें आसान हो जाती है। विक्रांत शानदार एक्टर ही नहीं बल्कि एक बेहतरीन को-स्टार हैं। आपकों बता दें कि पर्दे पर ऐसा पहली बार नहीं हुआ है, जब कृति दुल्हन के गेटअप में नजर आने वाली है। इस फिल्म के पहले भी वो शादी में जरूर आना (2017) और वीरे की वेडिंग (2018) जैसी फिल्मों में दुल्हन को रूप में देखी जा चुकी हैं।

इसे भी पढ़ेः- जलालबाद के बाद तरन-तारण में भिड़े शिरोमणि अकाली दल और कांग्रेस के कार्यकर्ता, फायरिंग