फिल्म मेकर्स को भा रहा मध्य प्रदेश, अब तक हो चुकी हैं इतनी फिल्मों की शूटिंग

27
Madhya Pradesh

दादा साहब फाल्के इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल( IFF) की मुंबई में हुई लॉन्चिंग में भारतीय सिनेमा (Indian cinema) के अभिनेता के के मेनन ही पहुंचे हों, लेकिन इस दौरान मध्य प्रदेश ने ये साबित कर दिया कि ये प्रदेश देश में शूटिंग का एक बड़ा सितारा (A big star )बनकर उभरा है। इसी बात का फायदा मध्य प्रदेश पर्यटन के उप निदेशक ने उठाया। इसके साथ ही यह जानकारी देकर महफिल लूट ली कि लॉकडाउन  के बाद मध्य प्रदेश में अब तक 15 फिल्मों व सीरीज की शूटिंग हो चुकी है लगभग इतनी ही शूटिंग अभी होना बाकी हैं।

इसे भी पढ़ें-कोरोना ने फिर पकड़ी रफ्तार, 24 घंटे में सामने आए इतने हजार मरीज

एक साथ एकत्रित हुए 10 राज्य

उत्तर प्रदेश फिल्म विकास परिषद के अध्यक्ष राजू श्रीवास्तव बुधवार को जिस समय उत्तर प्रदेश की नई फिल्म सिटी की लोकेशन का मुआयना कर रहे थे। तकरीबन उसी समय यहां मुंबई में देश के 10 राज्यों के पर्यटन विभाग एक ही जगह एकत्रित हुए थे। महाराष्ट्र, पंजाब, असम, राजस्थान, गुजरात, झारखंड, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, ओडीशा और हिमाचल प्रदेश आदि राज्य इसमें शामिल थे। दादा साहब फाल्के के नाम की रेवड़ियां बांटने की होड़ में शामिल दादा साहब फाल्के इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल के साथ इन सारे राज्यों के पर्यटन विभाग हैं। उत्तर प्रदेश का नाम इस लिस्ट में शामिल नहीं है।

70 से ज्यादा मिले प्रस्ताव

मध्य प्रदेश पर्यटन विभाग के उप निदेशक राम तिवारी ने इस मौके पर जानकारी दी कि बताया कि लॉकडाउन के बाद मध्य प्रदेश पर्यटन विभाग को अब तक 70 से भी ज्यादा फिल्म व सीरीज के प्रताव मिल सके हैं। इनमें से 15 की शूटिंग राज्य में पूरी हो चुकी है और 15 निर्माण के विभिन्न चरणों में हैं। उन्होंने बताया कि ‘दुर्गामती’ और ‘गुल्लक 2’ की शूटिंग तो सौ फीसदी मध्य प्रदेश में ही हुई। उप निदेशक ने बताया कि राज्य में फिल्म की शूटिंग के लिए बेहतर माहौल है और अनुमति लेने की प्रकिया काफी आसान हैं।

दादा साहब फाल्के इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल की घोषणा के दौरान सबसे दिलचस्प यह देखने को मिला कि एक निजी फिल्म समारोह से देश की विभिन्न राज्य सरकारों के पर्यटन विभाग बड़ें ही खुशी के साथ जुड़े हुए हैं। दादा साहब फाल्के के पौत्र चंद्रशेखर पुसलकर को खास तौर से इस कार्यक्रम में आगे रखा गया।

इसे भी पढ़ें-सोनू सूद की शिकायत पर पकड़ा गया उत्पाती बंदर, ग्रामीणों ने लगाई थी गुहार