पिता Rajesh Khanna ने Twinkle को इस वजह से दी थी 4 Boyfriend बनाने की सलाह

Twinkle Khanna अपने पिता यानि की Rajesh Khanna से काफी अच्छा बॉन्ड शेयर करती थी. अपने दिल की हर एक बात उनको बताती थी. एक बार पिता राजेश खन्ना ने बेटी को सलाह दी थी कि वो एक साथ 4 ब्वॉयफ्रेंड बनाए. आइए जानते हैं क्यों...

0
175

जब भी लोग बड़े स्टार का नाम लेते हैं तो अपनी सबसे पहले राजेश खन्ना(Rajesh Khanna) का नाम लिया जाता है उनका चॉकलेटी चेहरा और रोमांटिक अदाएं आज भी सब को याद होंगे और लोगों को आज भी उनकी फिल्में देखना बहुत पसंद है. राजेश खन्ना जितना पर्दे पर रोमांटिक दिखते थे उससे कई ज्यादा रियल लाइफ में वो रोमांटिक थे. उनकी पत्नी डिंपल कपाड़िया उनसे 16 साल छोटी थी. उनकी इसी अदाओं पर ही डिंपल कपाड़िया (Dimple Kapadia) दिल पर फिदा हो गई थी और अपने से इतने बड़े राजेश खन्ना के साथ शादी करने के लिए तैयार हो गयीं थी.

हुए दो बच्चे

शादी के बाद उनके दो बच्चे हुए. ट्विंकल खन्ना और रिंकी खन्ना (Twinkle Khanna and Rinke Khanna) भी हुए. ये तो सबको पता है कि ट्विंकल ने बड़े होकर बॉलीवुड की जाने माने एक्टर अक्षय कुमार से शादी कर ली थी.

सोशल मीडिया पर दर्शकों के सवालों का जवाब देते हुए ट्विंकल ने एक बार बताया था कि मैं राजेश खन्ना डिंपल कपाड़िया बहुत जल्दी अलग हो गए, लेकिन इसके बावजूद भी अपने पिता राजेश खन्ना के साथ दोनों बेटियां एक दूसरे से बहुत ही अच्छा बॉन्ड शेयर करती थी

ट्विंकल खन्ना ने अपने पिता राजेश खन्ना के बारे में एक बार कहा था कि वह दुनिया के सबसे अच्छे पिता थे. पिता का एक दिलचस्प किस्सा सुनाते हुए बोले कि एक बार राजेश खन्ना ने उनको एक समय में चार बॉयफ्रेंड बनाने की सलाह दे डाली थी.

असल में ट्विंकल खन्ना ने अपने पिता के बारे में कहा जाता है कि राजेश खन्ना ने क्या पूछा था कि उनका कोई बॉयफ्रेंड है या नहीं एकदम से एक सवाल के पूछे जाने पर ट्विंकल डर गई थी और सोच में पड़ गई थी कि एक बात का जवाब आखिर क्या दें.

अपनी बेटी को चुपचाप देख राजेश खन्ना ने आगे आकर खुद ही कह दिया कि अगर बनाओ तो एक साथ 4 बनाना ताकि  दिल टूटने पर तुमको ज्यादा तकलीफ ना हो. बता दें कि डिंपल कपाड़िया बिना काका राजेश खन्ना को तलाक दिए ही उनसे अलग रहने लगी थी. लेकिन जब काका बीमार थे तो वो आखिरी समय मे अपने पति के पास ही थी.

इसे भी पढ़ें-UP Elections: BJP के लिए सिरदर्द बनीं दूसरे चरण की 55 सीटें, जानें बड़ी वजह