सुशांत सिंह राजपूत केस की जांच में खर्च हुए 5 करोड़, नतीजा कुछ भी नहीं

64

नई दिल्ली। बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत की गुत्थी छह माह में भी नहीं सुलझी है। सुशांत की मौत की जांच सीबीआई कर रही है लेकिन नतीजा शून्य ही है। हाई प्रोफाइल केस में अब तक करोड़ों रुपए खर्च हो चुके हैं, दिल्ली से मुंबई के बीच अधिकारियों ने जमकर सफर तय किया। इस सब में खर्च हुई राशि जनता ने टैक्स में चुकाई है। अभिनेता की मौत की मिस्ट्री सुलझाने के लिए कई दिनों तक जांच चली जिसमे करोड़ों रुपए खर्च होने के बाद भी अब तक कुछ भी साफ़ नहीं हो पाया है कि, 14 जून को आखिर हुआ क्या था। मामले का अब तक खुलासा न होने पर अधिकारियों का मानना है कि, सरकार की हम नौकरी करते हैं। हर जांच का सिर्फ एक ही मकसद होता है, अब उसमे अधिकारियों, कर्मचारियों की सैलरी या फिर दूसरे मामलों में कितना खर्च हो रहा है, ये देखना काम नहीं है।

इसे भी पढ़ें: अमिताभ ने इस चीज को बताया लाइफ का सबसे बड़ा टार्चर, सोशल मीडिया पर शेयर की फीलिंग्स

सुशांत की मौत की सबसे पहले जांच मुंबई पुलिस ने शुरू की और नतीजा निकाला था कि, अभिनेता ने आत्महत्या की है। इस जांच के दौरान पुलिस ने कई बड़े बॉलीवुड कलाकारों को बुलाकर पूछताछ भी की थी। जिसमे कुछ निकलकर नहीं आया। हां, सोशल मीडिया पर सुशांत की मौत को हत्या बताया जा रहा था, रोजाना अभिनेता को न्याय दिलाने के लिए हैश टैग चल रहे थे। सुशांत के पिता ने भी सीबीआई जाँच की मांग की और जाँच शुरू हो गई। सिर्फ सीबीआई ही नहीं, इस जांच का हिस्सा प्रवर्तन निदेशालय (ED),नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) भी बने। सुशांत की मौत की जांच में मुंबई पुलिस के करीब 4 दर्जन से अधिक अधिकारी और कर्मचारी दो माह तक जुटे रहे।

इसके बाद एक दर्जन से अधिक ED के अफसर और कर्मचारी अपनी जांच में लगे रहे। अब जब मामला सीबीआई को मिला तो उसके भी करीब 50 से अफसर और कर्मचारी जांच में लग गए। इस मामले की जांच के लिए दिल्ली से एक स्पेशल टीम दिल्ली से मुंबई भेजी गई थी। जांच में शामिल सभी अधिकारियों-कर्मचारियों का वेतन, यात्रा का खर्चा, गाड़ियों (कार) का खर्चा, खाने-पीने रहने और टीए – डीए जोड़ा जाए तो कुल खर्चा पांच करोड़ से भी ज्यादा निकलता है। इतना कुछ होने के बाद जांच में एजंसियां अब के को लेकर कुछ भी कहने को तैयार नहीं हैं।

इसे भी पढ़ें: इस पूर्व कप्तान ने जब भारतीय टीम का उड़ाया मजाक तो मिला करारा जवाब