दिवाली: लक्ष्मी पूजन से पहले इन बातों का जरूर रखें ध्यान, बरसेगी कृपा

307

दिवाली के पर्व में मां लक्ष्मी और भगवान गणेश की पूजा होती है। वैभव, ऐश्वर्य और सौभाग्य प्राप्ति के लिए शास्त्रों के अनुसार दिवाली की रात में लक्ष्मी-गणेश की पूजा करना सबसे अच्छा मुहूर्त माना जाता है। वास्तु शास्त्र के अनुसार माता लक्ष्मी की पूजा करते समय कई बातों का ध्यान रखना चाहिए, जिससे पूजा में ध्यान केंद्रित होता है और मां लक्ष्मी भी जल्द प्रसन्न होती हैं।

Laxmi-Ganesh Pujan- Diwali Puja Vidhi In Hindi - ऐसे करें दीवाली पर लक्ष्मी-गणेश  पूजन, घर आएंगी सुख-समृद्धि | Patrika Newsपूजा कक्ष को अच्छी तरह से साफ़ कर लें, हो सके तो उसकी दीवारें हलकी पीली, गुलाबी या फिर हरे रंग की ही रखें। यह रंग सकारात्मक ऊर्जा स्तर बढ़ाते हैं। वहीं नीले, काले, भूरे जैसे रंगों को पूजा घर में कभी न करें। पूजा करने के लिए उत्तर पूर्व दिशा सबसे अच्छी है। यह कोण शुभ प्रभावों से युक्त होता है। इस दिशा में ही सत्व ऊर्जा का प्रभाव शत-प्रतिशत होता है।

Diwali 2020 laxmi ganesh pujan vidhi Laxmi Ganesh Pujan Samagri list in  hindi-Diwali 2020: दिवाली के दिन लक्ष्मी-गणेश की इस तरह पूजा करने से हमेशा  बरसेगी कृपा, जानें विधिवत तरीका ...उत्तर पूर्व दिशा
पूजा करते समय अपना मुख उत्तर पूर्व दिशा की और ही रखें, उत्तर दिशा धन क्षेत्र की दिशा होती है, ये क्षेत्र कुबेर, लक्ष्मी और गणेश पूजन के लिए सबसे अधिक आदर्श स्थान है। इस बात का विशेष ध्यान रखे कि, दिवाली के दिन लक्ष्मी-गणेश की पूजा के लिए मिट्टी की मूर्तियां नई ही हों। इसके आलावा अगर चांदी की मूर्ति है तो उसे साफ़ करके पूजा की जा सकती है। पूजा के लिए कलश, खील-पताशा, अक्षत-रोली, मोली, फल-मिठाई, सिन्दूर, गंगाजल, पान-सुपारी, इलाइची को उत्तर-पूर्व में ही रखें।

Know these four lakshmi ganesh puja shubh muhurat on deepavali toadayदेवी मां लक्ष्मी के प्रिय वस्त्र
मां लक्ष्मी को सबसे प्रिय लाल रंग हैं, यह रंग शक्ति और शौर्य का भी प्रतीक माना जाता है। लक्ष्मी मां को पूजा के दौरान अर्पित किए जाने वाले वस्त्र, श्रृंगार और फूल जो सके तो लाल रंग के ही रखें। दिवाली के दौरान पूजा कक्ष के द्वार पर सिंदूर या फिर रोली से स्वास्तिक बना दें। इससे घर में नकारात्मक शक्तियां प्रवेश नहीं करती हैं।

Diwali 2017 Laxmi Ganesh Pujan Vidhi Mantra And Pooja - जानिए दिवाली पर किस  शुभ मुहूर्त में लक्ष्मी-गणेश की पूजा करने पर बरसेगी कृपा | Patrika News

शंख ध्वनि से प्रसन्न होते हैं देवी-देवता
शंख ध्वनि और घंटानाद से देवी देवता प्रसन्न होते हैं, खास बात यह भी है कि, इससे आस पास का वातावरण भी शुद्ध होता है। इससे मन और मस्तिष्क में सकारात्मक ऊर्जा का संचार भी होता है।

इसे भी पढ़ें: दिवाली पर भूल से भी न करें ये 4 गलतियां, परिवार की खुशियों को लग सकती है आग