Modi Government Scheme: नवविवाहित जोड़े को मिलेंगे 2.50 लाख रुपये! सर्टिफिकेट दिखा कर पाए लाभ

Inter Caste Marriage: केंद्र सरकार ने समाज के भेदभाव को खत्म करने और असमानता को खत्म करने के लिए योजना बनाई, जिसके अंतर्गत सरकार नवविवाहित जोड़ों को ढाई लाख रुपए देकर उनकी सहायता करेगी।

0
998
Modi Government Scheme

Inter Caste Marriage: भले ही लोग आज के समय में कुछ स्कीम नहीं पता हैं। केंद्र सरकार ने समाज के भेदभाव को खत्म करने और असमानता को खत्म करने के लिए योजना बनाई, जिसके अंतर्गत सरकार नवविवाहित जोड़ों को ढाई लाख रुपए देकर उनकी सहायता करेगी।

मैरिज सर्टिफिकेट जरूरी

इसके लिए शादीशुदा लोगों को मैरिज सर्टिफिकेट और कुछ अन्य दस्तावेज सरकारी कार्यालय में जमा कराने होते हैं। उसके बाद 2.5 लाख रुपये की सहायता इंस्टॉलमेंट में लाभार्थी को दी जाएगी। उसके लिए आपको कहां आवेदन करना होगा आइए जानते हैं…

अपने क्षेत्र के मौजूदा सांसद या विधायक के पास पहुंचे और इस योजना का लाभ लें। आपके सांसद या विधायक आपका आवेदन डॉ आंबेडकर फाउंडेशन को भेजेंगे।

इसके अतिरिक्त आप आवेदन को पूरा भर कर नियमानुसार राज्य सरकार व जिला प्रशासन को भी सौंप दें। आपका और आवेदन राज्य सरकार व जिला प्रशासन डॉ आंबेडकर फाउंडेशन को भेज देंगे।

इस योजना का उठाए लाभ

यदि आप इस योजना का लाभ पाना चाह रहे हैं और जनरल कैटेगरी में है, तो आपको किसी दलित समुदाय की लड़की से शादी करनी होगी। यानि की एक ही जाति के वर वधू नहीं होने चाहिए। हिंदू विवाह अधिनियम 1955 के अंतर्गत शादी को लेकर आना होगा। इसके पहले आपकी शादी हो गई है और आपको दूसरी शादी करना है, तो इस योजना का लाभ नहीं ले सकते हैं। इसके अतिरिक्त अगर आपके पहले किसी स्कीम का फायदा ले चुके हैं तो उतना अमाउंट आपकी इस राशि से कट कर दिया जाएगा ।

इन पेपर की होगी जरूरत

नवविवाहित जोड़े का जाति प्रमाण पत्र आवेदन के साथ लगना जरूरी है।

मैरिज सर्टिफिकेट आवेदन के साथ जरूरी

विवाहित होने का हलफनामा जमा करना पड़ेगा

अगर पहली शादी है इसे साबित करने के लिए दस्तावेज लगना जरूरी है।

पति पत्नी को आय प्रमाण पत्र देना आवश्यक

जॉइंट बैंक अकाउंट देना होना जरूरी

आवेदन जमा होने के बाद पति पत्नी के बैंक खाते में 1.5 लाख रुपये अकाउंट में ट्रांसफर कर दी जाती है। इसके अतिरिक्त बाकी के 1 लाख की एफडी कर दी जाएगी।

इसे भी पढ़ें-शख्स के गले में घुसा त्रिशूल, 65 किलोमीटर चलकर खुद तय किया सफर, पहुंचा अस्पताल