घर बैठे 5 रूपये के इस नोट के बदले कमाए 3 लाख रूपये, बिना देर करें जानें यह आसान तरीका

0
351
Note

बहुत से लोग ऐसे होंगे जिनके पास पुराने सिक्के और नोट का कलेक्शन जरूर होगा। लोगों का शौक होता है कि वह नोट और सिक्के को कलेक्ट कर के अपने पास रखते हैं आपका यही सब आपको लखपति बना सकता है। आपको बता दें कि बाजार में इन दिनों पुराने सिक्कों की डिमांड काफी तेजी से बढ़ती जा रही है। जिसके बदले वह आपको लाखों रुपए देने को तैयार हैं लेकिन शर्त यह है कि जो वोट मांगा गया है। वही आपके पास होना चाहिए 10 20 50 या ₹100 का नोट आपके पास है। जिस पर 786 अंकित किया गया है तो उसके बदले में आपको आसानी से लाखों रुपए कमाने का मौका मिल रहा है।

तो आप भी जल्द ही अपने कलेक्शन को एक बार चेक कर ले इस सुनहरे मौके को हाथ से ना जाने दे। आपको यह जानकर हैरानी होगी लेकिन यह बात सोलह आने सच है की ऑनलाइन प्लेटफॉर्म्स पर इसके लिए बोलियां लगाई जा रही है और लोग उसके लिए लाखों रुपए भी देने को तैयार है।

अगर आपके पास 1, 2, 5, 10, 20, 50 या फिर ₹100 का नोट है जिस पर 786 अंक लिखा है सच मानिए कि आपकी लॉटरी लग गई है। इन सभी नोट्स को आप इबे वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन सेल कर सकते हैं जिसके बदले आपको लाखों रुपए कमाने का सुनहरा मौका मिलेगा।

असल में इस तरह के नोटों की ऑनलाइन खरीद बिक्री इबे वेबसाइट पर की जाती है। इसमें कोई भी आम या खास आदमी भाग ले सकता है अगर आपके पास कोई भी ऐसा नोट है। जिस पर 786 अंकित है तो आप दे मत करिए जल्द ऑनलाइन बोली मंगा सकते हैं और आसानी से घर बैठे 3 लाख रुपये कमा सकते हैं।

ऐसी स्थिति में बहुत से लोग इस नंबर का नोट पाने के लिए लाखों रुपए खर्च करते हैं कहते हैं इस नंबर का नोट लोग अपने पर्स में रखना बहुत शुभ मानते हैं। बहुत से ऐसे लोग होंगे जिनके पास इस नंबर का नोट जरूर होगा।

बिक्री करने का आसान तरीका

-सबसे पहले तो ww www.Ebay.com पर जाएं।

– होम पेज पर रजिस्ट्रेशन के लिए क्लिक करें, वहां पर खुद को रजिस्टर करें।
– अपनी नोट का एक साफ फोटो क्लिक करके वेबसाइट पर अपलोड करें।
– इबे आपका विज्ञापन उन लोगों के पास तक पहुंचा देगा जो इस स्पेशल नोट खरीदने के इच्छुक हैं।
– नोट खरीदने में रुचि रखने वाले लोग खुद आपसे संपर्क करेंगे।
– आप उन्हें अपनी नोट की बिक्री करने के लिए अप्रोच कर सकते हैं।

इसे भी पढ़े-Cricketer शिवम दुबे की शादी से फैंस को हुआ ऐतराज, दिलाई नुसरत जहां की याद