1500 करोड़ रुपए के घोटाले को लेकर सीबीआई ने बसपा विधायक विनय तिवारी की फर्म पर मारा छापा

177

लखनऊ। बड़े अपराधियों के लिए अब उत्तर प्रदेश सेफ नहीं रह गया है। एक तरफ जहां उत्तर प्रदेश की योगी सरकार माफियाओं और बाहुबलियों की अवैध संपत्तियों को जब्त करवा रही है वहीं सीबीआई एक और बाहुबली पर शिकंजा कसने की फिराक में है। सीबीआई ने आज बाहुबली हरिशंकर तिवारी के बेटे और बसपा विधायक विनय शंकर तिवारी के गंगोत्री इंटरप्राइजेज फर्म के लखनऊ, नोएडा और गोरखपुर के ठिकानों पर एक साथ छापेमारी की है। खबर है कि फर्म के लिए फर्जी दस्तावेजों के आधार पर 15 सौ करोड़ रुपए का लोन लिया गया था। कंपनी ने बाद में लोन का भुगतान भी नहीं किया।

इसे भी पढ़ें: भारतीय सेना ने डेमचोक सेक्टर में पकड़ा चीनी सैनिक, मिले कई अहम सबूत

जानकारी के मुताबिक फर्म को लेकर एक साल पहले सीबीआई में शिकायत की गई थी। इसी के आधार पर सीबीआई ने गंगोत्री इंटरप्राइजेज के खिलाफ मामला भी दर्ज किया था। सीबीआई टीम ने गंगोत्री इंटरप्राइजेज के साथ ही मैसर्स रॉयल एंपायर मार्केटिंग लिमिटेड, मैसर्स कंदर्प होटल प्राइवेट लिमिटेड के ठिकानों पर भी छापेमारी की है। ये सभी कंपनियां बसपा विधायक विनय तिवारी से जुड़ी हुई हैं। खैर आज की हुई छापेमारी में सीबीआई के किसी अधिकारी ने अभी कोई आधिकारिक जानकारी नहीं दी है।

ज्ञात हो कि बसपा विधायक विनय तिवारी का घर गोरखपुर में है। जहां पर सीबीआई की दो टीमें, नोएडा में कंपनी का मुख्य ऑफिस है जहां पर सीबीआई की दो टीमें और लखनऊ में कंपनी के कारोबार संबंधित एक ऑफिस है जहां छापेमारी चल रही है। सूत्रों की मानें तो लखनऊ के महानगर इलाके में सीबीआई की टीम मौजूद है। लखनऊ, गोरखपुर और नोएडा में कुल सात जगहों पर छापेमारी की जा रही है।

इसे भी पढ़ें: पाकिस्तानी घुसपैठ की नई चाल, LOC पर जैश और हिजबुल के आतंकी खोद रहे हैं सुरंग