शाम ढलते ही न करें ऐसे गलती, नाराज हो जाएगी माता लक्ष्मी, उठना पड़ेगा आर्थिक नुकसान

395

पनों को पूरा करने के लिए मेहनत सभी करते हैं, लेकिन उसके बाद भी कुछ लोगों को धन की प्राप्ति नहीं होती है। जिसकी वजह से सुख-समृद्धि और ऐश्वर्य भी उन्हें नहीं मिलता है। ऐसे में माता लक्ष्मी को प्रसन्न करना जरुरी है। उनकी कृपा अगर व्यक्ति पर हो जाए तो जीवन में धन की कभी कमी नहीं रहती है। सफलता कदम चूमती है और सभी सुख और सुविधाएं माता के भक्त को प्राप्त होती है। अगर आप भी माता लक्ष्मी की कृपा पाना चाहते हैं तो इन उपायों को जरूर अपनाएं।

Diwali 2020 Maa Lakshmi (Laxmi) Ji Ki Puja Aarti, Bhajan, Song MP3 Lyrics  Download in Hindi: Om Jai Laxmi Mata Aarti, Ganesh Ji ki Aarti Lyrics in  Hindi Diwali Lakshmi Puja is

सूर्योदय और सूर्यास्त का समय हिंदू धर्म में विशेष महत्व रखता है। ये दोनो ही समय संधिकाल के समय होते हैं। अगर आप शाम के वक़्त सूर्य ढलते वक़्त अगर इन उपायों को करते हैं तो आपकी माता लक्ष्मी की विशेष कृपा होगी। इससे आपके जीवन में चल रही सभी आर्थिक परेशानियां दूर हो जाएगी, जिससे जीवन में धन सुख के साथ सुख-समृद्धि की प्राप्ति होगी।

Seven Harmful Facts About Tulsi Leaves - जानिए सच, क्या वाकई जानलेवा हो  सकता है तुलसी के पत्तों का सेवन! | Patrika News

तुलसी के पौधे को हिन्दू धर्म में काफी पवित्र माना जाता है। जिस घर में रोजाना नियमित तौर पर तुलसी की पूजा होती है। उस घर में लक्ष्मी माता की विशेष कृपा होती है। वहीं मान्यता है कि, शाम के वक़्त तुलसी को स्पर्श नहीं करना चाहिए। इससे लक्ष्मी माता नाराज हो जाती हैं, जिससे घर में आर्थिक परेशानी शुरू हो सकती है। इसलिए कभी शाम के वक़्त तुलसी के पौधे को स्पर्श न करें।

Tulsi Vivah 2020: This auspicious time of Tulsi Puja read Namo Namo Tulsa  Maharani - Tulsi Vivah 2020: तुलसी पूजा का यह शुभ मुहूर्त, पढ़ें तुलसी जी  की स्तुति- नमो-नमो तुलसी महारानी

तुलसी के पौधे के पास रोजाना घी का दीपक जलाने से माता लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं। इससे परिवार के सदस्यों पर उनकी कृपा बनी रहती है। जिससे व्यक्ति को धन की कमी नहीं होती है। उन्हें धन-धान्य के साथ ऐश्वर्य की भी प्राप्ति होती है। तुलसी का पौधा घर में लगाने से वास्तु दोष भी दूर होता है।

इसे भी पढ़ें: घर में इन वास्तु दोषों से रुकती है तरक्की, होता है आर्थिक नुकसान