निकिता की हत्या के बाद देश में उबाल, बैठी पंचायत, उठी कानून बनाने की मांग

448

दिल्ली में दलित युवक राहुल की हत्या के बाद अब फरीदाबाद के बल्लभगढ़ में निकिता तोमर की हत्या से देश में लोग बेहद गुस्से में हैं। निकिता की हत्या का आरोपी तौफीक (21) ने उसके साथ ही 12वीं तक पढ़ाई की थी। तौफीक फिजियो थेरेपिस्ट का कोर्स कर रहा है। निकिता की हत्या में उसका दोस्त रेहान भी शामिल था। मीडिया रिपोर्ट्स में आरोपी का संबंध कांग्रेस पार्टी से बताया जा रहा है। दादा कबीर अहमद विधायक रह चुके हैं। वहीं उसके चाचा खुर्शीद अहमद राज्य में पूर्व मंत्री रह चुके हैं। वहीं तौफीक के एक और रिश्तेदार आफताब अहमद नूंह (मेवात) से कांग्रेस के टिकट चुनाव जीते हैं। तौशीफ और निकिता जब एक साथ पढ़ाई करते थे तो आरोपी उसे पसंद करने लगा था लेकिन निकिता उसे पसंद नहीं करती थी। तौफीक परेशान भी किया था इसे लेकर भी जानकारी अब सामने आ रही है।

इसे भी पढ़ें: 60 साल की उम्र के शख्स को लगा कमजोर हो गई हैं आंखें, चेक करते ही डॉक्टर्स भी रह गए दंग

मीडिया रिपोर्ट्स में जानकारी सामने आ रही है कि दो वर्ष पहले 2018 में आरोपी ने निकिता को किडनैप कर लिया था, जिसके बाद तौफीक के खिलाफ मामला बल्लभगढ़ थाने में दर्ज हुआ था। घटना के वक़्त निकिता बालिग नहीं थी और आरोपी पक्ष ने युवती पक्ष से माफ़ी मांग ली थी, जिसके बाद मामला वहीं रफा दफा हो गया। आरोपी पक्ष ने उस वक़्त जरूर रफा दफा करवा लिया लेकिन तौफीक अभी भी किसी घटना को अंजाम देने की फिराक था। तौफीक को जब इस बात की भनक लगी कि निकिता उसे नहीं मिलेगी और अब उसकी शादी कहीं और हो रही है। तो उसने निकिता की हत्या करने की योजना बना ली।

घटना को अंजाम देने के लिए तौफीक सोमवार सुबह ही फरीदाबाद में मिल्क प्लांट रोड पर अग्रवाल कॉलेज के बाहर खड़ा हो गया। एग्जाम देकर जब निकिता वापस लौट रही थी उस ही वक़्त आरोपी ने उसे पहले कार में बैठाने का प्रयास किया जब वो असफल हुआ तो उसने निकिता के सिर पर ही गोली मार दी। यह पूरी घटना पास में ही लगे CCTV में कैद हो गई, जिसके आधार पर आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया। गौरतलब है कि, कुछ दिन पहले ही दिल्ली में दलित राहुल की हत्या इसलिए कर दी गई थी क्योंकि उसकी दोस्ती मुस्लिम युवती से थी।

युवती के परिवार यह दोस्ती पंसद नहीं आई, जिसके बाद राहुल की हत्या बीच सड़क कर दी गई। ऐसा ही कुछ नितिका के साथ हुआ जब वो मुस्लिम युवक से शादी के लिए तैयार नहीं हुई तो उसकी हत्या भी बीच सड़क कर दी गई। इस मामले को लव जिहाद से जोड़ा जा रहा है इसे लेकर हिंदूवादी संगठनों केंद्र सरकार से अपील की जा रही है कि लव जिहाद को लेकर सरकार सख्त कानून बनाए।

इसे भी पढ़ें: बसपा को अपने ​ही विधायकों ने दिया झटका, पार्टी प्रत्याशी से वापस लिया प्रस्ताव, पहुंचे सपा कार्यालय